गैलेक्सी वर्ल्ड मोबाइल को माना उपभोक्ता के साथ धोखाधड़ी का दोषी, ₹4000 क्षतिपूर्ति देने का दिया निर्देश

उदयपुर. जिला उपभोक्ता परितोष फोरम ने उदयपुर स्थित गैलेक्सी वर्ल्ड मोबाइल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स शोरूम के प्रोपराइटर को उपभोक्ता को मोबाइल बेचने में प्रिंट रेट से अधिक राशि वसूलने का दोषी मानते हुए ₹4000 क्षतिपूर्ति अदा करने के आदेश दिए हैं.

उदयपुर जिले के सराडा निवासी नवदीप जैन ने उदयपुर अप्सरा होटल स्थित गैलेक्सी वर्ल्ड मोबाइल एंड इलेक्ट्रॉनिक शोरूम से जिओनी का P5 मॉडल क्रय  किया. उपभोक्ता से धोखाधड़ी करते हुए प्रोपराइटर चिराग जैन पुत्र अशोक जैन ने एमआरपी रेट से 13 सो रुपए अधिक लिए. इसके लिए प्रॉपरेटर चिराग जैन ने मोबाइल के डिब्बे से एमआरपी रेट सहित आवश्यक जानकारी वाला स्टीकर हटा दिया ताकि उपभोक्ता को इसका अंदाजा ना हो.

  टोयोटा ला रही नई एसयूवी, ह्यूंदै क्रेटा, किआ सेल्टॉस को देगी टक्कर

उपभोक्ता नवदीप जब उक्त मोबाइल लेकर गांव गया तो उसे पता लगा कि उसके साथ चिराग में धोखाधड़ी करते हुए 13 सौ रूपए अधिक वसूल लिए. चिराग की धोखाधड़ी का पता करने के लिए उपभोक्ता ने दूसरे ही दिन उड़ियापोल स्थित पैरागन मोबाइल शॉप से सेम मॉडल का दूसरा मोबाइल खरीदा जिस पर प्रिंट जानकारी के अनुसार उसे इस धोखाधड़ी का अंदाजा हुआ.

  अभी विचार-विमर्श के स्तर पर है जम्मू-कश्मीर के लिए थिएटर कमान का फैसला : जनरल नरवाणे

उपभोक्ता नवदीप जैन ने एडवोकेट हरीश पालीवाल के माध्यम से सेवा दोषकारीत करने के तथा उपभोक्ता से धोखाधड़ी करने के मामले में उपभोक्ता मंच में परिवाद प्रस्तुत किया. मंच के अध्यक्ष कमल चंद नाहर एवं सदस्य श्रीमती अंजना जोशी एवं डॉ भारत भूषण ओझा ने मोबाइल गैलेक्सी के विरुद्ध आदेश पारित करते हुए क्षतिपूर्ति के रूप में 1000 रुपए अधिवक्ता फीस के रूप में 1500 एवं परिवाद व्यय 15 सो रुपए कुल ₹4000 उपभोक्ता को अदा करने के आदेश पारित किया है. मंच ने विपक्षी चिराग को यह राशि अदा नहीं करने पर 9% ब्याज की दर पर राशि अदा करने के भी निर्देश दिए. उपभोक्ता की तरफ से पैरवी एडवोकेट हरीश पालीवाल ने की. विपक्षी की ओर से पैरवी एडवोकेट सुनील लोढ़ा ने की.

  बेहतर मानसून के कारण गेहूं का रिकॉर्ड उत्पादन होने का अनुमान

Check Also

ट्रंप की यात्रा सिर्फ नौटंकी नहीं : डॉ. वेदप्रताप वैदिक

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की इस भारत-यात्रा से भारत को कितना लाभ हुआ, यह तो …