कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए शादियां निकाय चुनाव और किसान आंदोलन जिम्मेदार: डॉ. हर्षवर्धन

नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने देश में कोरोना (Corona virus) के रोज बढ़ते मामलों के लिए शादी, स्थानीय चुनावों और किसान आंदोलन को सबसे बड़ी वजह बताया है. उन्होंने यह भी कहा कि देश के 11 राज्यों में कोरोना (Corona virus) के बढ़ते मामले गंभीर चिंता का विषय बना हुआ है.

केंद्र सरकार (Central Government)ने उन 11 राज्यों की अलग सूची बनाई है जहां कोरोना की स्थिति भयावह है. ये राज्य महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात (Gujarat), हरियाणा (Haryana) , हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक (Karnataka), मध्य प्रदेश और राजस्थान (Rajasthan)हैं. ये राज्य सबसे बड़ी टेंशन इसलिए हैं क्योंकि यहां कोरोना से होने वाली मौतें भी तेजी से बढ़ रही हैं.

  बाकी तीन चरणों के चुनाव एक साथ कराये आयोग : ममता

राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों संग वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान डॉक्टर (doctor) हर्षवर्धन ने कहा, ‘इन राज्यों में बीते दो हफ्तों में कोरोना के रोजाना आने वाले मामले और मौतों की संख्या सबसे ज्यादा है. ये 11 राज्य ही अकेले 54 प्रतिशत कुल मामलों के जिम्मेदार हैं और कोरोना से होने वाली 65 प्रतिशत मौतें भी इन राज्यों में हो रही है. इनमें महाराष्ट्र (Maharashtra) और पंजाब (Punjab) सबसे ऊपर हैं. मंगलवार (Tuesday) देर रात तक भारत में कोरोना (Corona virus) के 1 लाख 15 हजार 320 नए मामले दर्ज किए गए हैं जिसके बाद देश में कुल मामले बढ़कर 1 करोड़ 17 लाख 89 हजार 781 तक पहुंच गई है. वहीं, मंगलवार (Tuesday) देर रात तक कोरोना की वजह से 630 लोग जान गंवा चुके थे. महाराष्ट्र (Maharashtra) में संक्रमण दर सबसे ज्यादा 25 प्रतिशत है तो वहीं छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में यह 14 प्रतिशत है. डॉक्टर (doctor) हर्षवर्धन ने बताया कि फरवरी 2021 से इन राज्यों में कोरोना के मामले बहुत तेजी से बढ़े हैं और संक्रमितों में से अधिकांश लोग 15 से 44 साल की उम्र के हैं. इसके साथ ही कोरोना से जान गंवाने वाले अधिकतर लोगों की उम्र 60 या उससे ज्यादा है.

  हॉस्पिटल में जगह नहीं, टेस्टिंग की व्यवस्था नहीं, इंजेक्शन-दवाई , ऑक्सीजन -वेंटिलेटर नहीं और श्मशान-कब्रिस्तान में भी लाइन-रघुवर दास

स्वास्थ्य मंत्री ने राज्यों में टेस्ट की संख्या बढ़ाए जाने की सराहना की लेकिन उन्होंने गुजरात (Gujarat), हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) और महाराष्ट्र (Maharashtra) जैसे राज्यों में रैपिड ऐंटीजेन टेस्ट की बढ़ती संख्या पर चेताया भी. डॉक्टर (doctor) हर्षवर्धन ने कोरोना (Corona virus) के प्रसार को रोकने के लिए राज्यों को हर संभव मदद मुहैया कराने का भरोसा दिलाया. उन्होंने बताया कि देश में कोरोना से होने वाली मौतों की दर अब 1.30 प्रतिशत तक पहुंच गई है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *