Thursday , 21 October 2021

अंतिम संस्कार के रुपए नहीं होने पर परिजनों ने अपनी बिटिया का शव सड़क किनारे दफनाया

जोधपुर (Jodhpur) . जिले के मेड़तारोड थाना क्षेत्र के बासनी नेता की गौशाला सड़क किनारे एक तीन वर्षीय बालिका का शव मिट्टी में आधा दबा मिला. ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस (Police) ने मौके पर पंहुच शव को कब्जे में लेकर उसके परिजनों की तलाश शुरू की.

पुलिस (Police) ने परिजनों का पता लगाकर शव का पोस्टमार्टम कराया व अंतिम संस्कार किया. मृत बालिका के परिजन ने आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए सड़क किनारे शव को दफनाने की बात कही जिसे श्वानों ने बाहर निकाल लिया था.पुलिस (Police) के अनुसार शनिवार (Saturday) को अल सवेरे ही थाना क्षेत्र के बासनी नेता ग्राम के ग्रामीणों ने पुलिस (Police) को गौशाला सड़क के किनारे मिट्टी में दो-तीन वर्षीया बालिका का शव दबा होने की सूचना दी जिसे श्वानों ने खोद कर निकाल दिया है.

  देश में अब तक लगे 99 करोड़ टीके जल्द 100 करोड़ का लक्ष्य होगा पूरा

पुलिस (Police) ने शव को कब्जे में लेकर उसकी पहचान के लिए परिजनों की तलाश आरम्भ की.ग्रामीणों व आसपास से पूछताछ करने पर बालिका कपास चुनने वाली लेबर की होने का अन्देशा जाहिर किया गया. आसूचना अधिकारी राजेन्द्र ने आसपास के नलकूपों पर कपास चुन रही लेबर से कड़ी पूछताछ की तब बालिका के पिता जगमोहन ने स्वीकार किया कि उसकी 3 वर्षीय पुत्री रामसनी की मौत 22 सितम्बर को हो गई थी.

  वीआईएल और एलएंडटी के साथ 5जी आधारित स्मार्ट सिटी समाधान परीक्षण योजना में समझौता

आर्थिक हालत और ग्रामीणों द्वारा श्मशान में दफनाने के मना करने के डर से उन्होने चुपके से सड़क किनारे ही छोटा सा गढ्ढा खोदकर बच्ची को दफ ना दिया. पुलिस (Police) ने परिजनों की तलाश की और बच्ची का विधिवत अंतिम संस्कार किया.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *