Thursday , 28 January 2021

पूर्व सैनिकों को सरकारी नौकरियों में अधिकतम आयु सीमा में अब 10 साल की छूट


-1 जून, 2002 के बाद संतानों की संख्या दो से अधिक होने पर भी अब कर्मचारियों राहत

जयपुर (jaipur) . पूर्व सैनिकों को राजस्थान (Rajasthan)में सरकारी नौकरियों के लिए अधिकतम आयु सीमा में छूट को 5 साल से बढ़ाकर 10 साल करने का फैसला किया गया है. इसके साथ ही गहलोत कैबिनेट की बैठक में भूतपूर्व सैनिकों के लिए सरकारी नौकरियों में आरक्षण के प्रावधानों में कई संशोधनों को मंजूरी दी गई है. अब पूर्व सैनिकों के लिए न्यूनतम अर्हता अंकों में 5 प्रतिशत की छूट को अभ्यर्थियों की अनुपलब्धता की स्थिति में 5 प्रतिशत और बढ़ाने के साथ ही आवेदन के समय कम्प्यूटर प्रयोग की योग्यता प्रमाण-पत्र से संबंधित छूट देने का फैसला भी किया गया है. भूतपूर्व सैनिक कोटे से देय आरक्षण का लाभ लेकर सरकारी नौकरी पाने और फिर से किसी सरकारी पद के लिए अगर पूर्व सैनिक आरक्षण का दोहरा लाभ लेना चाहे तो यह उस स्थिति में ही देय होगा जब सीधी भर्ती के उच्च पदों पर जहां निचले पद का अनुभव निर्धारित है.

  कलयुगी बहु ने ही लूटा अपना घर

कैबिनेट के अन्य फैसलों में बाड़मेर के आंटा गांव में भारतीय वायु सेना का एयरबेस के लिए कैबिनेट ने रक्षा मंत्रालय को भूमि आवंटित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी. वहीं 1 जून, 2002 के बाद संतानों की संख्या दो से अधिक होने पर 3 वर्ष के लिए एसीपी रोकी जाकर आगामी एसीपी में उसके पारिणामिक प्रभाव को समाप्त करने का फैसला किया गया है. राजस्थान (Rajasthan)सिविल सेवा (पुनरीक्षित वेतन) नियमों में संशोधन कर वरिष्ठ उपाध्याय स्कूल और संस्कृत शिक्षा विभाग के प्रधानाचार्य को शिक्षा विभाग के सीनियर सैकण्डरी स्कूल के प्रधानाचार्य के समकक्ष वेतनमान देने को मंजूरी दी गई है. अब प्रधानाचार्य, वरिष्ठ उपाध्याय स्कूल, संस्कृत शिक्षा विभाग में दिनांक 1 जलाई 2013 से 31 दिसंबर 2015 तक काल्पनिक आधार पर ग्रेड-पे 6000 से बढ़ाकर 6600 किया जायेगा. इसके अलावा 1 जनवरी 2016 से सातवें वेतन आयोग की पे-मैट्रिक्स में एल-15 से बढ़ाकर एल-16 के अनुसार दिया जाएगा. वास्तविक भुगतान अधिसूचना की तारीख से मिलेगा.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *