कोरोना वायरस के नएरूप से जापान में हड़कंप, विशेषज्ञों ने गंभीर खतरे की और किया इशारा

टोक्‍यो . महामारी (Epidemic) कोविड-19 (Covid-19) को दुनियाभर फैलने वाले चीन के वुहान शहर से निकले वायरस ने अब अपने नए-नए रूप धारण करने शुरू कर दिए है और यह बेहद संक्रामक होता जा रहा है. ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका के बाद अब जापान में भी कोरोना (Corona virus) एक नया म्‍यूटेंट स्‍ट्रेन मिला है. विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि कोरोना (Corona virus) का यह नया स्‍ट्रेन ब्रिटेन में मिले स्‍ट्रेन की तरह से ही बहुत ज्‍यादा संक्रामक है. कोरोना (Corona virus) का यह नया स्‍ट्रेन अब तक नहीं देखा गया था और ब्राजील से लौटे 4 लोगों में इसे पाया गया है. निक्‍केई एशिया की रिपोर्ट के मुताबिक ये संक्रमित यात्री दो जनवरी को ब्राजील से जापान के हनेदा एयरपोर्ट पर उतरे थे. इन लोगों में महिलाएं और पुरुष दोनों ही शामिल हैं. इन सभी लोगों का एयरपोर्ट पर टेस्‍ट कराया गया था और अब रिजल्‍ट पॉजिटिव आया है. जिन तीन लोगों में कोरोना (Corona virus) का नया स्‍ट्रेन पाया गया है, उनमें सांस लेने में दिक्‍कत, बुखार और गले में दिक्‍कत देखी गई है.

  भारत की रूस से 'महामिसाइल एस-400' डील से अमेरिका की भौंहें चढ़ी- कूटनीतिक टकराव की संभावना

रिपोर्ट के मुताबिक करीब 40 साल के एक व्‍यक्ति में जापान लौटने पर कोई लक्षण नहीं देखा गया था लेकिन बाद में उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ा. पीड़‍ित व्‍यक्ति को सांस लेने में दिक्‍कत हो रही है. इन सभी लोगों की जांच की गई थी जिसमें कोरोना (Corona virus) के एक नए स्‍ट्रेन का अब पता चला है. देश के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन को कोरोना के इस नए स्‍ट्रेन के बारे में जानकारी दे दी है. अभी तक उपलब्‍ध सूचना के मुताबिक जापान में मिला कोरोना का यह नया स्‍ट्रेन अभ‍ी विकसित हो रहा है और इस वजह से वह कितना संक्रामक है, इसका पता नहीं चल पाया है. अभी तक यह भी पता नहीं चल पाया क‍ि पूरी दुनिया में जो वैक्‍सीन लगाई जा रही हैं, वे इस नए स्‍ट्रेन के खिलाफ कारगर होंगी या नहीं. जापान में हाल में प्रतिदिन 7 हजार से अध‍िक मामले सामने आए हैं. अब तक देश में 3900 लोगों की मौत हो गई है.

  कांग्रेस को स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन का करारा जवाब

जापान ने तेजी से फैल रहे कोरोना (Corona virus) के संक्रमण को रोकने के लिए आपात स्थिति की घोषणा की है. यह आपात स्थिति शुक्रवार (Friday) से लागू हो गई है, जो सात फरवरी तक जारी रहेगी. इस दौरान लोगों को कोरोना संक्रमण को रोकने के उपायों जैसे मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखना अनिवार्य होगा. बड़े पैमाने पर स्वास्थ्य अधिकारी और पुलिस (Police)कर्मी लोगों की जांच भी करेंगे. आपातकाल के ऐलान के पहले दिन जनजीवन सामान्य रहा और ट्रेनों में मास्क पहने लोगों की भीड़ दिखी. प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने रेस्तरां में कामकाज के समय में कटौती करने और लोगों से घर से काम करने की अपनी अपील दोहराई. सुगा ने कहा कि हम लोग इसे बेहद गंभीरता से ले रहे हैं. लोगों के सहयोग से हमें हर कीमत पर इस मुश्किल स्थिति से निकलना होगा.’

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *