Thursday , 21 October 2021

फिल्म ‘विस्फोट’ से कमबैक करेंगे फरदीन, रितेश देशमुख के साथ निभाएंगे अहम किरदार

मुंबई (Mumbai) . दिवंगत अभिनेता फिरोज खान के बेटे फरदीन खान ने पिछले साल दिसंबर में कहा था कि अब वह फिल्मों में कमबैक के लिए तैयार हैं. खबर है कि फरदीन खान फिल्म ‘विस्फोट’ से कमबैक करने वाले हैं. इस फिल्म में वह रितेश देशमुख के साथ स्क्रीन शेयर करेंगे. इस फिल्म के निर्माता संजय गुप्ता हैं. बालीवुड अभिनेता फरदीन खान ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि फिल्म को लेकर बात चल रही है. फरदीन खान ने दिसंबर 2020 में कहा था मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं इतने लंबे समय तक फिल्मों से दूर रहूंगा. शुरू में मुझे और मेरी पत्नी नताशा को लंदन जाना पड़ा, क्योंकि हमें बेबी को लेकर कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा था. सन 2013 में आखिरकार हमारी बेटी हुई. चार साल बाद हमारे बेटे का जन्म हुआ. हर बार घर में बड़ी खुशियां आती थीं और हम इसी में रहे. इतना समय कब बीत गया, पता ही नहीं चला.

  आदित्य रॉय कपूर ने शुरू की फिल्म तडम के हिंदी रीमेक की शूटिंग

फरदीन ने कहा मुझे मुंबई (Mumbai) और लंदन के बीच अप-डाउन करना पड़ा, क्योंकि हमने आईवीएफ प्रोसेस चुना था, यह मेरी पत्नी नताशा के लिए आसान नहीं था. मुझे उसके पास रहना था. फरदीन खान को शुरुआत में लगता था कि उन्हें मुंबई (Mumbai) से सिर्फ दो या तीन साल तक दूर रहना पड़ेगा. उन्होंने कहा काश जिंदगी इतनी आसान होती! मुंबई (Mumbai) से दूर जाने की प्लानिंग नहीं थी, मैं परिस्थितियों से निपट रहा था. अब मैं दो सुंदर बच्चों के साथ खुश हूं और काम से दूर हूं. मैंने उनके साथ जो समय बिताया, वह मेरे जीवन का बेहतरीन समय है.

  'इरुल' के हिंदी रीमेक में नजर आ सकते हैं नवाजुद्दीन सिद्दीकी

फरदीन ने आगे कहा मेरे पास ईश्वर का आभारी होने के लिए बहुत कुछ है. अब मैं बच्चों को थोड़ा और व्यवस्थित देखता हूं. मुझे लगता है कि मेरे लिए काम पर वापसी जाने का समय आ गया है. काम पर मेरी वापसी व्यवस्थित रूप से हुई. यह तब हुआ जब यह होना ही था. लौटने के बाद मैंने पाया कि फिल्म इंडस्ट्री का पूरा सीन ही बदल गया है.

  चौथे समन के बाद ईडी के ऑफिस पहुंची अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीस

फरदीन खान ने स्पष्ट किया कि वह बॉलीवुड (Bollywood) में क्वैलिटी वर्क करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा मैं हमेशा मुंबई (Mumbai) और लंदन के बीच आना-जाना करता रहा हूं. मैंने अपना आधा समय वहां और आधा समय यहां बिताया. इस बार मैं एक उद्देश्य के साथ वापस आया हूं. मैं अच्छा सार्थक काम करना चाहता हूं. मुझे लगता है कि यह सिनेमा का नया स्वर्ण युग है. सिनेमा की इस तरह की विविधता को होते देखना एक्साइटमेंट से भरा है.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *