Wednesday , 27 October 2021

किसानों का भारत बंद: राजधानी दिल्ली से सटी सीमाओं पर जबरदस्त जाम, यातायात बाधित

नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ लामबंद किसान संगठनों का आज भारत बंद दौरान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटी सीमाओं, पंजाब, बिहार (Bihar) समेत देश के कई राज्यों में प्रदर्शन किया जा रहा है. भारत बंद को किसानों के अलावा कई राजनीति दलों और सामाजिक संगठनों का समर्थन मिल रहा है. तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का नेतृत्व करने वाले 40 से अधिक किसान संगठनों के निकाय संयुक्त किसान मोर्चा ने आज भारत बंद का आह्वान किया है. अनेक सामाजिक संगठनों और राजनैतिक दलों ने भारत बंद का समर्थन किया है. इस दौरान दिल्ली से सटी सीमाओं जैसे गाजीपुर और सिंघु बार्डर पर किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. कई जगहों पर रोड जाम किया गया है. इसकी वजह से यातायात को परिवर्तित भी किया गया है.

किसान इस दौरान इंमरजेसी सेवा को छोड़कर सभी चीजों को बंद करेंगे. भारत बंद को लेकर ये तय किया गया है कि इस दौरान किसान रास्तों और हाईवे पर धरना देंगे. सरकारी दफ्तरों के सामने प्रदर्शन होगा. किसान दिल्ली के बार्डर का भी घेराव करेंगे. किसानों के इस भारत बंद को विपक्ष का समर्थन मिला है. भारत बंद की वजह से दिल्ली में कई रास्तों का बंद किया गया है तो कई जगह मार्ग परिवर्तित किया गय़ा है.

पंजाब (Punjab) में किसान संगठनों द्वारा आज बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी अमृतसर (Amritsar) के देवीदासपुरा गांव में रेलवे (Railway)ट्रैक पर धरने पर बैठ गए. गुरुग्राम-दिल्ली सीमा पर भी बुरी तरह यातायात जाम हो गया. दिल्ली पुलिस (Police) और अर्धसैनिक बलों के जवानों द्वारा आज किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर जांच की जा रही है. आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh)में वाम दलों ने 3 कृषि कानूनों के खिलाफ आज भारत बंद का पालन करने के लिए विजयवाड़ा बस स्टेशन के सामने विरोध प्रदर्शन किया. सीपीआई (एम) के राज्य सचिव पी मधु ने इस दौरान कहा कि यह केंद्र सरकार (Central Government)की नीतियों के खिलाफ एक राष्ट्रीय विरोध है. किसान 3 कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 10 महीनों से विरोध कर रहे हैं.

  पुंछ के मेंढर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में लश्कर का विदेशी आतंकी घायल

केरल (Kerala) में भारत बंद का असर दिख रहा है. सड़कें सूनी दिख रही हैं. तिरुवनंतपुरम में दुकानें बंद हैं. एलडीएफ और यूडीएफ से जुड़े ट्रेड यूनियनों ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आज भारत बंद के आह्वान का समर्थन किया.
किसानों के भारत बंद के समर्थन में कर्नाटक (Karnataka) में विभिन्न संगठनों ने कलबुर्गी सेंट्रल बस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया. एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि कई संगठन हमारे किसानों का समर्थन कर रहे हैं और देशव्यापी बंद के आह्वान में भाग ले रहे हैं.
पंजाब (Punjab) के अमृतसर (Amritsar) में जिन जगहों पर किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं वहां सुबह पांच बजे से सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है. किसानों का विरोध शांतिपूर्ण है, इसलिए सुरक्षाबलों से भी कहा गया है कि उनके साथ अभद्र व्यवहार न करें और कुछ होने पर मेरे संज्ञान में लाएं.
भारत बंद के समर्थन में उतरे राहुल गांधी-

राहुल गांधी ने ट्वीट कर किसानों को अपना समर्थन दिया. राहुल ने किसानों के आंदोलन को अहिंसक सत्याग्रह बताते हुए कहा कि सरकार को किसानों का सत्याग्रह भी पसंद नहीं है. बिहार (Bihar) में राजद नेता मुकेश रौशन और पार्टी के अन्य सदस्यों और कार्यकर्ताओं ने 3 कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में हाजीपुर में विरोध प्रदर्शन किया. हाजीपुर-मुजफ्फरपुर मार्ग पर दिखा ट्रैफिक जाम, महात्मा गांधी सेतु पर आवाजाही भी प्रभावित. कांग्रेस और आरजेडी(राजद) के अलावा आम आदमी पार्टी(आप), मायावती की बहुजन समाज पार्टी(बसपा), समाजवादी पार्टी(सपा) और लेफ्ट पार्टियों ने भी भारत बंद का साथ देने का ऐलान किया है.
किसान संगठनों ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ अपना विरोध जारी रखते हुए भारत बंद का आह्वान किया है. सिंघु (दिल्ली-हरियाणा (Haryana) ) सीमा पर प्रदर्शनकारी क्षेत्र में घूमने वाले लोगों के साथ बात कर रहे हैं. तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आज किसानों के भारत बंद का असर मेट्रों के संचालन पर भी पड़ा है. दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (डीएमआरसी) ने ट्वीट किया है कि पंडित राम शर्मा का प्रवेश/निकास बंद कर दिया गया है.
राकेश टिकैत बोले- हमने कुछ भी सील नहीं किया-

  238 दिन में कोरोना के सामने आए सबसे कम दैनिक मामले

भारतीय किसान यूनियन(भाकियू) के नेता राकेश टिकैत ने भारत बंद पर कहा है कि एम्बुलेंस, डाक्टर या आपात स्थिति में जाने वाले लोग जा सकते हैं. हमने कुछ भी सील नहीं किया है हम सिर्फ एक संदेश भेजना चाहते हैं. हम दुकानदारों से अपील करते हैं कि वे अपनी दुकानें अभी बंद रखें और शाम 4 बजे के बाद ही खोलें. उन्होंने कहा कि बाहर से यहां कोई किसान नहीं आ रहा. किसान संगठनों ने तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आज भारत बंद का आह्वान किया है. गाजीपुर सीमा पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. विरोध के चलते उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) से गाजीपुर की ओर ट्रैफिक बंद कर दिया गया है.

दिल्ली-अमृतसर (Amritsar) राष्ट्रीय राजमार्ग हरियाणा (Haryana) के कुरुक्षेत्र के शाहाबाद में किसानों के विरोध में कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन करते हुए अवरुद्ध कर दिया गया. किसान संगठनों ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आज भारत बंद का आह्वान किया है. किसानों के भारत बंद के कारण उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) से गाजीपुर सीमा की ओर यातायात बंद कर दिया गया है. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस (Police) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. एक किसान का कहना है कि किसानों के विरोध के भारत बंद के आह्वान को देखते हुए हमने शाम चार बजे तक शंभू सीमा (पंजाब-हरियाणा (Haryana) सीमा) को बंद कर दिया है.
दिल्ली पुलिस (Police) ने सोमवार (Monday) को केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी है. पुलिस (Police) के अनुसार, गश्त तेज कर दी गई है, विशेष रूप से सीमावर्ती इलाकों में चौकियों पर अतिरिक्त कर्मियों को तैनात किया गया है और राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने वाले हर वाहन की पूरी जांच की जा रही है. संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के नेतृत्व के तहत 40 किसान संगठनों ने भारत बंद करने की अपील की है. किसान संगठनों ने लोगों से कहा गया है कि किसानों के संघर्ष में शामिल होकर अपना योगदान दें.

बैंक (Bank) यूनियनें भी समर्थन में आगे आईं-
अखिल भारतीय बैंक (Bank) अधिकारी परिसंघ (एआईबीओसी) ने भी भारत बंद को अपना समर्थन देने की घोषणा की है. एआईबीओसी ने सरकार से संयुक्त किसान मोर्चा की मांगों पर उसके के साथ फिर से बातचीत शुरू करने और तीन विवादित कृषि कानूनों को रद्द करने का अनुरोध किया.

  उद्धव ठाकरे के आवास के सामने वाले कॉम्प्लेक्स में मिला 8 फुट लंबा अजगर

मालूम हो कि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली मे विभिन्न बॉर्डरों पर पिछले दस महीनों से किसानों का आंदोलन जारी है. पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा (Haryana) आदि के किसान सरकार से कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं.

किसानों के भारत बंद के कारण रेल यातायात भी प्रभावित हुआ है. कई स्थानों पर किसान रेलवे (Railway)ट्रैक पर बैठे हैं. इससे दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर डिवीजन में रेल यातायात प्रभावित हुआ है. इस कारण दिल्ली से चलने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. दिल्ली से कटरा के लिए चली वंदे भारत एक्सप्रेस पानीपत (Panipat) स्टेशन पर खड़ी है. उत्तर रेलवे (Railway)के मुताबिक किसानों के भारत बंद के कारण दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर डिवीजन में रेल ट्रैफिक प्रभावित हुआ है. दिल्ली डिवीजन में 20 से अधिक स्थानों पर किसान ट्रैक पर बैठे हैं. अंबाला और फिरोजपुर डिवीजनों में करीब 25 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. इस कारण नई दिल्ली (New Delhi) अमृतसर (Amritsar)- शान ए पंजाब, नई दिल्ली (New Delhi)-मोगा स्पेशल ट्रेन, पुरानी दिल्ली-पठानकोट स्पेशल, नई दिल्ली (New Delhi)-अमृतसर (Amritsar) शताब्दी और नई दिल्ली (New Delhi)-कालका शताब्दी रद्द कर दी गई है. नई दिल्ली (New Delhi) से सुबह 6 बजे कटरा के लिए चली वंदे भारत एक्सप्रेस पानीपत (Panipat) स्टेशन पर खड़ी है. 40 से ज्यादा किसान संगठनों ने केंद्र सरकार (Central Government)के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में आज भारत बंद का ऐलान किया है. संयुक्त किसान मोर्चा की अगुआई में इस बंद का कई बड़े राजनीतिक दलों ने समर्थन किया है. कांग्रेस ने अपने सभी कार्यकर्ताओं, प्रदेश इकाई प्रमुखों और पार्टी से जुड़े संगठनों के प्रमुखों को बंद में शामिल होने को कहा है. बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने भी बंद का समर्थन किया है. आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh)की सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस ने भी समर्थन दिया है.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *