कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए किसानों ने खून से लिखी चिट्ठी पीएम मोदी को भेजी

जींद . हरियाणा (Haryana) के जींद के किसानों ने कृ‎षि कानूनो को वापस लेने के ‎लिए खून से ‎चिट्ठी ‎लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को भेजी है. जींद के टोल प्लाजा पर केंद्र सरकार (Central Government)के कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे सैकड़ों किसानों ने इंजेक्शन से खून निकालकर पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी है.

  वैक्सीन लगाने के बाद दोबारा कोरोना हो सकता है, लेकिन खतरा कम हो जाएगा: सीएम केजरीवाल

इसमें किसानों ने कहा कि उन्हें ये काले कानून नहीं चाहिए, इसके बजाये सरकार एमएसपी पर स्थाई कानून बनाए. चिट्ठी में ‎लिखा ‎कि ‘आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) (Prime Minister Narendra Modi) जी, हमें तीनों काले कानून नहीं चाहिए. इन तीनों काले कानूनों को वापिस लो और एमएसपी पर परमानेंट कानून बनाओ.’ जींद टोल प्लाजा पर बैठे किसानों ने कहा ‎कि वे 63 से ज्यादा दिनों से कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं. फिर भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है. इसलिए युवा किसानों ने प्रधानमंत्री को खून से चिट्ठी लिखने का फैसला किया है. किसानों का कहना है कि हम खून से पत्र लिखकर पीए मोदी को यह संदेश देना चाहते हैं कि जो किसान गांधीवादी तरीके से आंदोलन कर सकता है, वह भगत सिंह की तरह खून भी देना जानता है. महिला किसान सिक्कम, किसान नेता विजेंदर सिंधु आदि ने कहा कि केंद्र सरकार (Central Government)को किसानों के हक में उनकी बात सुननी चाहिए.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *