पिता ने ‘कोरोना की दवा’ बताकर बेटे-बेटी को जहर पिलाने के बाद खुद भी पीया, सिविल में भर्ती

राजकोट (Rajkot). नानामवा रोड पर शिवम पार्क में रहने वाले ब्राह्मण परिवार ने जहर पीकर आत्महत्या (Murder) करने की कोशिश की. पिता और बेटे-बेटी को गंभीर हालत में प राजकोट (Rajkot) के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पिता ने ‘कोरोना की दवा’ बताकर बेटे-बेटी को जहर पिलाने के बाद खुद भी पी लिया. कर्मकांड करने वाले कमलेश रामकृष्णभाई लाबड़िया(45) रविवार (Sunday) शाम को जहर लेकर आए थे.

  युवती का फर्जी साेशल मीडिया अकांउट बना आपत्तिजनक पोस्ट की, केस दर्ज

रात में बेटी कृपाली(22) बेटे अंकित (21) और पत्नी जयश्रीबेन (42) से कहा कि कोरोना की दवा है. इसे पीने के बाद कोरोना नहीं होगा. कमलेशभाई ने बेटे-बेटी के साथ खुद भी दवा पी ली, जबकि पत्नी ने पीने से इनकार कर दिया था. कुछ देर बाद तीनों की तबीयत खराब होने लगी. पत्नी जयश्रीबेन ने अपने जेठ को बताया. तीनों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां तीनों की हालत स्थिर है. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस (Police) इंस्पेक्टर धोला स्टाफ के साथ सिविल अस्पताल पहुंच गए. कमलेशभाई ने सुसाइड नोट में लिखा है कि एडवोकेट आरडी वोरा के एक रिश्तेदार को मकान बेचा था. 1.20 करेाड़ में सौदा होने के बाद 20 लाख मुझे दे दिया था. बकाया 1 करोड़ मांगने के बाद आरडी वोरा पुलिस (Police) में फर्जी केस करके हमें परेशान कर रहा था.

  प्राइवेट कोविड अस्पतालों में एमडी फिजिशियन नहीं, तो मान्यता होगी समाप्त
न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *