प्रर्दशनकारियों को तितर-बितर करने के लिए संघीय एजेंटों के किया आंसूगैस का इस्तेमाल

नस्लीय हिंसा के खिलाफ पोर्टलैड में जुटे लोगों ने कोर्ट परिसर की ओर पटाखे, कांच की बोतलें फेंकी

पोर्टलैंड. नस्ली हिंसा के खिलाफ ओरेगन के पोर्टलैंड में संघीय अदालत के बाहर जुटी हजारों प्रदर्शनकारियों (Protesters) की भीड़ तितर-बितर करने के लिए शनिवार (Saturday) तड़के अमेरिकी एजेंटों ने आंसू गैस का इस्तेमाल किया. इसके पूर्व अमेरिका की एक अदालत ने ओरेगन की वह याचिका खारिज कर दी, जिसमें नस्ली हिंसा के खिलाफ पोर्टलैंड में हो रहे प्रदर्शनों को रोकने के लिए संघीय एजेंटों को कार्रवाई करने से रोकने का अनुरोध किया गया था. इसके बाद हजारों प्रदर्शनकारी पोर्टलैंड की गलियों में एकत्र हुए थे.

  फ्रांस की रक्षा मंत्री की लापरवाही सामने आई -सैनिकों की वायरस सुरक्षा को लेकर बोला था झूठ

पोर्टलैंड में सैल्मन स्ट्रीट स्प्रिंग्स के पास मास्क और हैलमेट पहने सैकड़ों लोग शुक्रवार (Friday) रात आठ बजे एकत्र हुए. इसके बाद वे ’हैटफील्ड फेडरल कोर्टहाउस’ की ओर बढ़े. रात नौ बजे प्रदर्शनकारियों (Protesters) की संख्या हजारों में बदल गई. प्रदर्शनकारियों (Protesters) ने ‘‘काले लोगों का जीवन मायने रखता है’’ और ‘‘संघीय सरकार (Government) के कर्मी घर जाओ’’ के नारे लगाए. उन्होंने ने अदालत परिसर की ओर पटाखे और कांच की बोतलें फेंकी. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए संघीय एजेंटों ने कई बार आंसू गैस का इस्तेमाल किया. संघीय रक्षात्मक सेवा ने दावा किया कि कई अधिकारी घायल हुए हैं.

  भारत और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं का शक्ति प्रदर्शन

प्रदर्शनकारियों (Protesters) के खिलाफ संघीय एजेंटों की कार्रवाई के कारण स्थानीय प्रशासन और ट्रम्प प्रशासन के बीच टकराव पैदा हो गया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इन प्रदर्शनों को काबू करने के लिए संघीय एजेंटों को तैनात किया है. इन एजेंटों ने नस्ली हिंसा के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों को काबू करने के लिए दर्जनों प्रदर्शनकारियों (Protesters) को गिरफ्तार किया है. ओरेगन में डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं का कहना है कि संघीय हस्तक्षेप से हालात और बिगड़ गए हैं. अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट जज माइकल मोस्मैन ने कहा कि राज्य के पास प्रदर्शनकारियों (Protesters) के खिलाफ मामला दर्ज कराने का अधिकार नहीं है.

  ट्रंप ने ड्रैगन पर फिर बोला हमला, कोरोना को ‘चीनी वायरस’ कहा

मोस्मैन ने कहा कि ओरेगन ने अपने निवासियों को पहले पहुंची चोटों के आधार पर याचिका दायर नहीं कराई, बल्कि संघीय अधिकारियों को भविष्य में निवासियों को चोट पहुंचाने से रोके जाने को आधार बनाकर याचिका दायर की, इसलिए यह मामला सुनवाई योग्य नहीं है. पोर्टलैंड में झड़पों ने देश में राजनीतिक तनाव और बढ़ा दिया है तथा डेमोक्रेटिक पार्टी के नेतृत्व वाले शहरों में संघीय अधिकारियों को भेजे जाने के कारण संघीय शक्तियों की सीमा संबंधी संकट को गहरा कर दिया है.

Check Also

नौसेना के अनुबंध पूरा नहीं करने पर जताया ऐतराज, जंगी जहाजों के बेड़े को खरीदने में असफल रहने का मामला

नयी दिल्ली. नौसेना द्वारा जंगी जहाजों के बेड़े को खरीदने का फैसला 2010 में होने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *