वित्तमंत्री ने वैश्विक स्तर पर निगरानी बढ़ाने की जरूरत पर दिया जोर


नई दिल्ली . वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वैश्विक स्तर पर मौजूद खतरों की निगरानी बढ़ाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि इन खतरों से निपटने के लिए नीतिगत समन्वय की संभावनाएं तलाशने की जरूरत है. वित्त मंत्रालय ने ट्विटर पर बताया कि रियाद में जी20 देशों के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों की बैठक को संबोधित करते हुए सीतारमण ने सभी सदस्य देशों से महिलाओं, युवाओं व लघु एवं मध्यम उपक्रमों को सशक्त बनाने के प्रयास तेज करने की अपील की. उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर बढ़ती असमानता के कारण नई पीढ़ियों की स्थिति में सुधार की गति धीमी हुई है.

  मोदी सरकार का एक्शन, तबलीगी जमात के 960 विदेशी सदस्यों के नाम ब्लैक लिस्ट में डाले

समस्या के कारणों की पहचान करने और उसके निवारण के उपाय ढूंढने के लिए समन्वयित नीतिगत समाधान विकसित करने की जरूरत है. सीतारमण जी20 बैठक में ‘सभी के लिए अवसरों की उपलब्धता बढ़ाना सत्र की मुख्य वक्ता थीं. उन्होंने महिलाओं, युवाओं और लघु एवं मध्यम उद्योगों के सशक्तिकरण के लिए भारत सरकार की ओर से शुरू की गई स्टैंडअप इंडिया, मुद्रा और स्टेप योजनाओं का जिक्र किया.

  सिंधिया ने उठाया स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा का मुद्दा

वित्त मंत्री ने कोरोना वायरस से प्रभावित चीन के लोगों के साथ सहानुभूति भी जताई. उन्होंने कहा कि भारत मुश्किल की इस घड़ी में चीन को हरसंभव मदद देने के लिए तैयार है. चीन ने अपने मंत्री और केंद्रीय बैंक के गवर्नर को बैठक में नहीं भेजा है. सऊदी अरब में चीन के राजदूत बैठक में बीजिंग का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं.

  उदयपुर अम्बामाता क्षेत्र के कई इलाकों में कर्फ्यू लगाया

Check Also

क्वारनटीन सेंटर से निकलकर गेहूं पिसवाने पंहुचा युवक तो पुलिस ने पीटा, किया सुसाइड

लखीमपुर. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के फरिया पिपरिया गांव से एक सनसनीखेज मामला …