देश का जानबूझकर माहौल बिगाड़ा जा रहा है-गहलोत


हिन्दु राष्ट्र का सपना कभी साकार नहीं होगा, केन्द्र जनता की भावनाओं की कद्र करें, संविधान पर चोट पर चोट दे रहे है, राष्ट्रवाद का झूठा राग अलापा जा रहा है, मोदी और संघ का एक एजेंडा

जयपुर. सुप्रीम कोर्ट द्वारा सरकारी नौकरी में एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग को पदोन्नति में आरक्षण मसले पर देशभर में केन्द्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी की नीतियों के खिलाफ कांग्रेस ने आज जयपुर के कलेक्ट्रेट सर्किल पर धरना प्रदर्शन किया. प्रदर्शन में शामिल होने वालों में संगठन के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं से लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके कैबिनेट के तमाम मंत्री और विधायक, प्रदेश के चारो प्रभारियों ने हिस्सा लिया और केन्द्र सरकार की नीतियों के खिलाफ जमकर हल्ला बोला.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने चिर परिचित अंदाज में भारतीय जनता पार्टी द्वारा की जा रही राजनीति पर एक एक कर शब्दबाण चलाये उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी के संरक्षक संघ की मंशा एक ही जैसी है उन्होने कहा कि जैसे ही अदालत का फैसला आया देश में 61 प्रतिशत वोट भाजपा के खिलाफ पडे जिसका मतलब यही है कि देश की जनता इनकी नीतियों के पक्ष में नहीं है भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने सत्ता की खातिर लोकसंगत संवैधानिक और नीति परख राजनीति से हटकर अपशब्दो की भाषा अपना ली है जिससे लोकतंत्र खतरे में है.

  [[क्विक टेक] हमारे स्मार्टफोन, हमारे हमसफ़र: माला भार्गव

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली प्रचार के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री और कई सांसदों ने जनता को भरी सभा में गोली मारो जैसे शब्दो का उपयोग कर अलोकहितकारी अपशब्दो का कर संविधान को ताख में रखने की कुनीति की चाल चली है जिसका ही परिणाम है कि आज देश के कई राज्य भारतीय जनता पार्टी के हाथ से जनता ने छिन लिए है. उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लोकहित की राजनीति नहीं स्वंहित की राजनीति करने में लगे है जिस प्रकार उन्होने नोटबंदी, जीएसटी की उससे पूरे देश में आर्थिक उथल-पुथल हुई ठीक इसी तरह से भाजपा के द्वारा बोले जा रहे बोल से तानाबाना बिगड़ रहा है लोकतंत्र में धरने प्रदर्शन करना हर भारतवासी का संविधान हक देता है पर भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस दोनो आरक्षण को खत्म करने पर तूले है और देश में हो रहे धरने-प्रदर्शन करने वालों पर लाठी और गोली मारो जैसे शब्दो के बाण छोडे जा रहे है मै कहना चाहता हूं कि आज के कांग्रेस के द्वारा किए गए प्रदर्शन से भाजपा वाले सीख ले सकते है लाखों लोगों की भीड़ के साथ सडक़ पर ड्राइवर पर लगे पौधो को नुकसान नहीं पहुंचा.

  बॉन्ड बाजार से राज्यों ने महंगी दर पर जुटाई रकम

उन्होने कहा कि भारतीय जनता पार्टी महात्मा गांधी और बाबा साहेब अम्बेडकर के संविधान की सत्ता की खातिर धुहाई देते है जबकि इनकी मंशा इसके बिलकुल विपरीत है. इस अवसर पर प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी की नीति नियत और कार्यशैली में जमीन आसमान का अंतर है भाजपा स्वसेवा भाव की राजनीति करती है जबकि कांग्रेस जन जन की आवाज के मुताबिक सरकार चलाती हे. उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी अपने भाषण में कहा कि केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण आज पूरे देश की सामाजिक संचरना से लेकर आर्थिक जगत के दिन अच्छे नही रहे जबकि भाजपा के नेता जो स्लोगन सबका साथ सबका विकास बोलते है ठीक उसका उलटा हो रहा है.

  पोत परिवहन मंत्रालय के उपक्रमों, बंदरगाह कर्मियों ने दिए 7 करोड़

Check Also

जानिए स्कन्द पुराण के अनुसार वैशाख माह में कौनसे काम करे और कौनसे नहीं

वैशाख माह में भगवान विष्णु की पूजा करने का विशेष महत्व है. इन दिनों में …