गहलोत अल्पमत में है, सदन का सामना करे : किरण माहेश्वरी


पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री एवं विधायक किरण माहेश्वरी ने कहा कि अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) बहुमत खो चुके है उन्हें नैतिक आदर्शो का सम्मान करते हुए तुरन्त त्याग पत्र दे देना चाहिए. सदन में विश्वास मत प्राप्त किए बिना मंत्री परिषद का विस्तार करना लोकतंत्र के प्रति अपराध है.

किरण माहेश्वरी ने कहा कि कांग्रेस में प्रतिभापरिश्रम और आत्मसम्मान का कोई स्थान नहीं है. इस पार्टी में राजवंश की चाटुकारिता ही आगे बढ़ने की एक मात्र सीढ़ी है. अपनी ही सरकार के उपमुख्यमंत्री (Chief Minister) एवं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को पुलिस (Police) द्वारा राजद्रोह एवं आपराधिक षडयंत्र में आसूचित करवाने का स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह पहला उदाहरण है. सचिन पायलट को गिरफ्तार करने का षडयंत्र रचा जा रहा था.

किरण माहेश्वरी ने कहा की सचिन पायलट को तो पार्टी से जाना ही था. कांग्रेस में उर्जावान नेताओं को राजवंश के लिए खतरा माना जाता हैएवं आत्मसम्मान को राजद्रोह. कांग्रेस पार्टी पूरानी जमींदारी प्रथा का राजनीतिक संस्करण है.

  मुख्यमंत्री आज करेंगे मधुमती विशेषांक का लोकार्पण

Check Also

पंचायत चुनाव 2020 : गोगुन्दा में 6 व 7 अक्टूबर तथा सराड़ा में 10 व 11 अक्टूबर को होगा मतदान

उदयपुर (Udaipur). राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जिले में पंचायत चुनाव 2020 के तहत प्रथम चरण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *