उत्तराखंड में महंगी होगी बिजली, किसानों और गरीबों को राहत देगी सरकार


कॉमर्शियल और औद्योगिक कनेक्शनधारी उपभोक्ताओं पर पड़ेगा महंगी बिजली का भार

देहरादून (Dehradun) . उत्तराखंड में अगले कुछ दिनों में बिजली की दरें महंगी हो सकती है. खासकर कॉमर्शियल और औद्योगिक कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ताओं को अब बिजली के लिए महंगी कीमत चुकानी पड़ सकती है. वहीं, किसानों, गरीब परिवारों और जिन घरों में हर महीने 100 यूनिट तक बिजली की खपत होती है, ऐसे उपभोक्ताओं पर बिजली बिल का ज्यादा भार नहीं पड़ेगा.

  सेना के पुनगर्ठन और थियेटर कमान पर हो सकते हैं अहम फैसले

उत्तराखंड ऊर्जा निगम ने विद्युत नियामक आयोग को जो प्रस्ताव भेजा है, उसके तहत घरेलू बिजली की दरों में 2 प्रतिशत से कम बढ़ोतरी की सिफारिश की गई है. वहीं, कॉमर्शियल और औद्योगिक कनेक्शनधारी उपभोक्ताओं पर महंगी बिजली का भार देने का प्रस्ताव है.
ऊर्जा निगम के प्रस्ताव पर गौर करें तो घरेलू बिजली की दर में जहां 1.99 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी का प्रस्ताव है, वहीं कॉमर्शियल दरों में 4.05 प्रतिशत, एलटी उद्योगों में 2.5 और उद्योगों की दरों में 5.13 प्रतिशत तक की वृद्धि का प्रस्ताव है. निगम ने नियामक आयोग को जो प्रस्ताव भेजा है, उसमें बिजली की दरों में 4.56 फीसदी बढ़ोतरी की सिफारिश की गई है. गौरतलब है कि ऊर्जा निगम को बिजली दर में वृद्धि से पहले बोर्ड की बैठक भी बुलानी पड़ती है, लेकिन प्रस्ताव भेजने में हुई अतिरिक्त देरी की वजह से बिना बैठक किए ही इस बार बढ़ोतरी का प्रस्ताव आयोग को भेज दिया गया है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *