चीन के वुहान शहर में फंसे छात्रों के समूह ने सुरक्षित निकलने की अपील की


नई दिल्ली. चीन के वुहान शहर में फंसे 8 भारतीय छात्रों के समूह ने भारत सरकार से अपील की है कि उन्हें जितना जल्दी हो सके, वहां से सुरक्षित निकाला जाए. वुहान यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस ऐंड टेक्नॉलजी में पढ़ने वाले इन भारतीय छात्रों ने कहा कि शहर पूरी तरह सीज है और जल्द ही उनके पास खाने-पीने के लिए कुछ नहीं बचेगा. करॉना वायरस की वजह से चीन में अबतक 106 लोगों की मौत हो चुकी है.

  बोर्ड एग्जाम में वीणा-वाणी को 16 साल बाद हुई अलग

चीन में भारतीय दूतावास ने फंसे हुए भारतीय छात्रों से संपर्क किया है और उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिया है. शहर में वायरस फैलता जा रहा है और इस वजह से छात्र लगातार डर और चिंता में जी रहे हैं. सरकार से रेस्क्यू की अपील करने वाले छात्र असम, दिल्ली, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और जम्मू-कश्मीर से हैं.

  प्लानिंग में सरकार : जघन्य अपराध में शामिल नाबालिग पर भी चले एडल्ट की तरह केस?

इस बीच डीजीसीए (डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन) ने वुहान में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए मंगलवार को एयर इंडिया की एक फ्लाइट को मंजूरी दे दी है. वुहान में फंसे भारतीयों को एयरलिफ्ट करने के लिए एयर इंडिया के एक बोइंग 747 विमान को स्टैंडबाइ में रखा गया है.

  मोटेरा स्टेडियम के बाहर बना गेट गिरा, इसी ट्रंप को करना था भीतर प्रवेश

उधर, विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने वडोदरा में मीडिया से बातचीत में बताया कि चीन में भारतीय दूतावास वहां की सरकार के संपर्क में है और भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए प्रयास चल रहे हैं.

Check Also

मछली और झींगे की होगी ‘हॉलमार्किंग’, बनाया जाएगा कानून

कोच्चि . मोदी सरकार मछली और झींगे की ‘हॉलमार्किंग’ करने के लिए एक कानून बनने …