अगर लोग देखेंगे नहीं तो प्रोड्यूसर ऐसे कंटेंट क्यों बनाएंगे?

-वेब सीरीज में ‘अश्लीलता’ परोसे जाने पर जैज जिनी का खुला दावा

मुंबई (Mumbai) . इरॉटिक कंटेंट को लेकर आए दिन बवाल होता है, लेकिन न तो इस पर कोई प्रतिबंध लग रहा है और न ही ऐसे कॉन्सेप्ट को दर्शक नकार रहे हैं. उल्लू ऐप की वेब सीरीज से मशहूर हुईं अभिनेत्री जिनी जैज दावा करती हैं कि इरॉटिक कंटेंट की डिमांड है. उन्होंने कहा कि जिन प्लेटफॉर्म्स पर ये कंटेंट स्ट्रीम होते हैं, वे सबसे ज्यादा चर्चा में हैं. मॉडल से अभिनेत्री बनी जिनी ‘चरमसुख’ के अलावा भी कई वेब सीरीज साइन कर चुकी हैं. उन्होंने कहा कि युवाओं में वेब सीरीज काफी पसंद की जा रही है.

  गणतंत्र दिवस के दिन लालकिला में हुई हिंसा के आरोपी दीप सिद्धू को जमानत मिली

कोरोना महामारी (Epidemic) की वजह से भी ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर लोगों की एक्टिविटी बढ़ी है. जिनी ने कहा कि न्यूकमर के पास ज्यादा चुनने का विकल्प नहीं होता, आपको अगर मौक़ा मिलता है तो बस ख़ुद को प्रूव करना होता है, ऐसे में अगर आप सोचें कि लोग क्या सोचेंगे, तो बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है. अश्लीलता परोसने की बात पर उन्होंने कहा कि अगर लोग देखेंगे नहीं तो प्रोड्यूसर ऐसे कंटेंट क्यों बनाएंगे? ऐसे कंटेंट्स को भारी संख्या में दर्शक मिलते हैं, जिसकी वजह से ऐसी सीरीज बनाई जाती है. जिनी ने कहा कि ओटीटी के दर्शक वर्ग बिल्कुल अलग हैं और मुझे लगता है उन्हें अडल्ट कंटेंट से कतई परहेज नहीं है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *