Thursday , 28 January 2021

डॉनल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरू

पक्ष-विपक्ष दोनों के निशाने पर

वांशिंगटन . अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के लिए सत्र की कार्यवाही शुरू कर दी है. पिछले सप्ताह अमेरिकी संसद परिसर में हिंसा में ट्रंप की भूमिका को लेकर अमेरिका के निचले सदन में उन पर महाभियोग के लिए वोटिंग होने जा रही है. डेमोक्रेट्स ने राष्ट्रपति ट्रंप पर संसद पर हमला करने के लिए अपने समर्थकों को उकसाने का आरोप लगाया. इस घटना में 5 लोगों की मौत हो गई थी.

donald-trump-impeachment

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के लिए सत्र की कार्यवाही शुरू कर दी है. पिछले सप्ताह अमेरिकी संसद परिसर में हिंसा में डॉनल्ड ट्रंप की भूमिका को लेकर अमेरिका के निचले सदन में उन पर महाभियोग के लिए वोटिंग होने जा रही है. डेमोक्रेट्स ने राष्ट्रपति ट्रंप पर संसद पर हमला करने के लिए अपने समर्थकों को उकसाने का आरोप लगाया. इस घटना में 5 लोगों की मौत हो गई थी.

  मुख्यमंत्री रीवा, गोपाल भार्गव सागर में करेंगे ध्वजारोहण

राष्ट्रपति ट्रंप के महाभियोग पर बहस के दौरान अमेरिकी सदन की अध्यक्ष नैन्सी पलोसी ने कहा कि हम जानते हैं कि अमेरिका के राष्ट्रपति ने इस विद्रोह, देश के खिलाफ इस सशस्त्र विद्रोह को उकसाया. उन्हें पद से हटना चाहिए. साफ है कि वह देश के लिए खतरा हैं.

एनबीसी न्यूज के मुताबिक 215 डेमोक्रेट्स सांसद (Member of parliament) और 5 रिपब्लिकन सांसदों ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग का समर्थन किया है. महाभियोग के लिए 218 मतों की जरूरत होती है. हाउस के प्रमुख नेता होयर का कहना है कि वह महाभियोग के लिए आर्टिकल को अमेरिकी सीनेट को तुरंत भेजेंगे.

न्यूयॉर्क टाइम्स (NYT) के अनुसार सीनेट के नेता मैककोनेल का मानना है कि ट्रंप ने महाभियोग की कार्यवाही लायक काम किया है. उनके खिलाफ यह कार्यवाही की जानी चाहिए और अमेरिका को ट्रंप के जाल से बाहर निकालना चाहिए.

इससे पहले, बताया गया था कि अमेरिकी संसद भवन कैपिटल बिल्डिंग पर पिछले सप्ताह हुई हिंसा के मद्देनजर अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पर डेमोक्रेटिक नेताओं के बहुमत वाली अमेरिकी प्रतिनिधि सभा वोटिंग के लिए तैयार है.

  टीकाकरण में दुनिया को पछाड़ चुका है भारत

महाभियोग प्रस्ताव पर वोटिंग के साथ ही ट्रंप अमेरिका के इतिहास में पहले ऐसे राष्ट्रपति बन जाएंगे जिनके खिलाफ दो बार महाभियोग चलाया गया. बहरहाल, सांसदों जैमी रस्किन, डेविड सिसिलिने और टेड लियू ने महाभियोग का प्रस्ताव तैयार किया है जिसे हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव (प्रतिनिधि सभा) के 211 सदस्यों ने सह-प्रायोजित किया. महाभियोग के प्रस्ताव को सोमवार (Monday) को पेश किया गया था. महाभियोग प्रस्ताव में ट्रंप पर छह जनवरी को ‘राजद्रोह के लिए उकसाने’ का आरोप लगाया गया है.

समाचार एजेंसी के मुताबिक ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही के लिए कुछ रिपब्लिकन सदस्य भी सत्र में शामिल हो रहे हैं. बता दें कि महाभियोग प्रस्ताव में कहा गया था कि ट्रंप ने अपने समर्थकों को संसद भवन की घेराबंदी के लिए तब उकसाया, जब वहां इलेक्टोरल कॉलेज के मतों की गिनती चल रही थी और लोगों के धावा बोलने की वजह से यह प्रक्रिया बाधित हुई. इस घटना में एक पुलिस (Police) अधिकारी समेत पांच लोगों की मौत हो गई.

  गणतंत्र दिवस पर बवाल के बाद अब पुलिस कार्रवाई शुरू

गौरतलब है कि नवंबर में आए चुनाव के नतीजों के खिलाफ ट्रंप ने वॉशिंगटन डीसी में एक बड़ी रैली में अपने समर्थकों से कहा था कि लड़ाई करो. उन्होंने अपने समर्थकों से वॉशिंगटन डीसी की तरफ कूच करने का भी आह्वान किया था. ट्रंप के भाषण के बाद ही पिछले बुधवार (Wednesday) को अमेरिकी संसद परिसर में ये हिंसा हुई थी. वहीं प्रतिनिधि सभा की न्यायिक समिति के अध्यक्ष जेरोल्ड नैडलर ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के लिए 50 पन्नों की एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें महाभियोग चलाने के लिए मजबूत आधार पेश किए गए हैं. हालांकि पूरी कार्यवाही को ट्रंप बोलने की अपनी स्वतंत्रता के खिलाफ बता रहे हैं.


News 2021

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *