Saturday , 27 February 2021

‘शोले’ के 45 साल हुए पूरे, सिप्पी, अमिताभ और हेमा ने बताया किन खासियतों ने इस फिल्म को बनाया कालजयी


मुंबई (Mumbai) . ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘शोले’ ने 15 अगस्त को अपने 45 साल पूरे कर लिए हैं. इस खास मौके पर फिल्म के कलाकार अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी और निर्देशक रमेश सिप्पी ने पीछे मुड़कर कुछ बीती बातों को याद किया. सिप्पी ने बताया शोले को जिस तरह से लिखा गया था और जिस तरह से इसके किरदारों को उकेरा गया था, उसके चलते यह फिल्म आज भी लोगों के जेहन में ताजा है. चाहें गब्बर के संवाद हो या बसंती की बकबक. यहां तक कि, सांभा जिसने फिल्म में केवल दो ही शब्द कहे थे, उसकी भी यादें आज भी लोगों के दिलों में बरकरार है.

  कम लगेज लेकर सफर करने पर हवाई किराये में मिलेगी रियायत

फिल्म में जय का किरदार निभाने वाले अमिताभ ने कहा शोले’ में तीन ही घंटे में बड़ी ही खूबसूरत (Surat)ी से बुराई पर अच्छाई की जीत दिखाई गई है. यह पहली बार था जब किसी भारतीय फिल्म के लिए एक डायलॉग सीडी जारी की गई थी. एक्शन वाले दृश्यों को पहली बार एक ब्रिटिश क्रू द्वारा निर्देशित किया गया था, उन्हें खासतौर पर फिल्म के लिए भारत में बुलाया गया था और इसके बाद फिल्म को ब्रिटेन में संपादित किया गया – कई सारी चीजें पहली बार हुईं.

  बढ़ते पारे से किसानों की बढ़ी चिंता, सामान्य से करीब 8 डिग्री तापमान अधिक

एक निर्देशक के रूप में रमेश सिप्पी ने इसके बनाने के दौरान कई अप्रचलित बदलाव किए जैसे कि इसका लोकेशन, एक्शन कॉर्डिनेशन, कैमरा वर्क, 70मिमी और स्केल – मेरे ख्याल से ये प्रयास मिलकर रंग लाए. फिल्म में बसंती के किरदार को निभाने वाली दिग्गज अभिनेत्री हेमा मालिनी इस पर कहती हैं शूटिंग शुरू होने से पहले मुझे बताया गया था कि इसमें एक डांस सीक्वेंस है जहां मुझे एक उबड़ खाबड़ चट्टान के ऊपर कांच पर नांचना है. शूटिंग अप्रैल के महीने में हुई थी जब काफी गर्मी थी. मुझे याद है कि रमेश सिप्पी इस चीज को लेकर काफी पर्टिकुलर थे, लेकिन यह एक यादगार दृश्य बन पाया था.

Please share this news