करीब 10 हजार लोगों की चीन की डिजिटल जासूसी के खिलाफ भारत गंभीर

-एक्सपर्ट कमेटी से 30 दिन में मांगी रिपोर्ट, मामले को चीन के राजदूत के सामने भी उठाया

नई दिल्ली (New Delhi) . भारत के खिलाफ चीन की साजिशों की पोल खुलती जा रही है और भारत द्वारा ड्रैगन के खिलाफ कड़े कदम भी उठाए जा रहे हैं. एलएसी पर करारे जवाब के बाद अब चीन द्वारा भारत में करीब 10,000 लोगों के डाटा की निगरानी करने के मामले की बारीकी से जांच के लिए भारत सरकार (Government) ने एक एक्सपर्ट कमेटी बनाई है. मीडिया (Media) रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में भारत सरकार (Government) ने डिजिटल जासूसी की इन रिपोर्टों का अध्ययन करने, उनका मूल्यांकन करने और कानून के किसी भी उल्लंघन का आकलन करने के लिए राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक के तहत एक एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया है.

  भारत-अमेरिका के बीच अहम रक्षा समझौता

यह कमेटी 30 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी. मालूम हो कि चीन की शेनजेन स्थित इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी जेन्हु पर लगभग 10 हजार भारतीय नागरिकों पर ‘डिजिटल जासूसी’ का गंभीर आरोप लगा है. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कांग्रेस सांसद (Member of parliament) केसी वेणुगोपाल को सरकार (Government) के इस फैसले की जानकारी भी दी है, क्योंकि उन्होंने और कई सांसदों ने सरकार (Government) से अपील की थी कि चीन की जासूसी से भारतीय राजनेताओं और दूसरे लोगों के डाटा को बचाया जाए. सूत्रों के अनुसार विदेश मंत्रालय ने मामला भारत में चीन के राजदूत के सामने भी उठाया.

  बिहार विस चुनाव के दूसरे चरण में नीतीश के 3 मंत्रियों सहित तेजस्वी, तेजप्रताप की साख दांव पर

चीन ने कहा कि जेन्हु ​​एक निजी कंपनी है और सार्वजनिक रूप से अपने बारे में बता चुकी है. सूत्रों ने आगे बताया कि भारतीय नागरिकों की गोपनीयता और निजी डेटा की सुरक्षा को भारत सरकार (Government) बहुत गंभीरता से लेती है. गौर तलब है कि एक मीडिया (Media) रिपोर्ट में बताया गया था कि चीन भारत में करीब 10,000 लोगों के डाटा की निगरानी कर रहा है. चीन भारत के हाई प्रोफाइल लोगों पर भी नजर बनाए हुए है, जिसमें पीएम मोदी से लेकर सोनिया गांधी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीजेआइ एसए बोबडे, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जैसी टॉप हस्तियां चीन की निगरानी में है.

  14 गांव के आदिवासी घर में कोरन्टाइन होकर पीएम मोदी का करेंगे विरोध

कंपनी इन हस्तियों की रियल टाइम निगरानी कर रही है. इसमें उनसे जुड़ी हर छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी सूचना शामिल है. इस लिस्ट में राजस्थान (Rajasthan) के सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot), मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सीएम शिवराज सिंह चौहान, पश्चिम बंगाल (West Bengal) की सीएम ममता बनर्जी, पंजाब (Punjab) के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, महाराष्ट्रके सीएम उद्धव ठाकरे, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक का नाम भी शामिल है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *