Wednesday , 15 August 2018
Breaking News

ज्यूस में जहर देकर ससुराल पक्ष ने नव विवाहिता को मारने का आरोप, दोनों पक्षों में हुई जमकर मारपीट

उदयपुर. पचपन दिन पूर्व बड़े अरमानों से सुहाग की मेहंदी और माथे में सिंदूर सजाकर जिसके साथ जीवन भर साथ चलने का संकल्प लेकर ससुराल की दहलीज पर कदम रखा, लेकिन ससुराल वालों ने दहेज की मांग को लेकर उसे पहले दिन से ही शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताडि़त करना शुरू कर दिया. हाथों की मेहंदी उतरी ही नहीं उससे पहले ही उसे ज्यूस में जहर देकर मार डालने का आरोप परिजनों ने लगाया है. इस घटना से आक्रोशित पीहर पक्ष अस्पताल में ससुराल पक्ष पर टूट पड़ा और दोनों पक्षों की आपस में जूतमपेजार हो गई. पुलिस ने बीचबचाव कर मृतका के पति, ससुर व देवर को सुरक्षित वहां से ले जाकर हाथीपोल थाने पर बिठा दिया.

मिली जानकारी के अनुसार नवरत्न कॉम्पलेक्स संस्कार-2 राजविला में रहने वाली लक्षिता अजमेरा (25) पत्नी अनिल गोठवाल कुमावत को बुधवार को उपवास होने पर ज्यूस पिलाने के बहाने पति अनिल, सास राजकुमारी, ससुर नारायण व देवर अंकित ने ज्यूस में विषाक्त वस्तु मिलाकर उसे पिला दी, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई. उसे एम.बी. चिकित्सालय लाए जहां उसकी प्राथमिक उपचार के दौरान ही मौत हो गई. बेटी की अकाल मौत से अस्पताल में पीहर पक्ष के काफी लोग एकत्र हो गए और जैसे ही चिकित्सकों ने लक्षिता को मृत घोषित किया तो पीहर पक्ष के सब्र का बांध टूट पड़ा और ससुराल पक्ष पर लात, मुक्के बरसाना शुरू कर दिया. पति अनिल, ससुर नारायण व देवर अंकित को जमकर पिटा. इस दौरान बीच-बचाव करने आई अस्पताल चौकी पुलिस के कांस्टेबल विक्रम सिंह व अन्य जवान व होमगार्ड के जवान भी चपेट में आ गए.

ससुराल पक्ष की ओर से भी लात-मुक्के चले जो पीहर पक्ष के लोगों के भी लगे. अचानक अस्पताल के ट्रोमा सेंटर के बाहर हुए जूतमपेजार से वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर आए और बड़ी मुश्किल से अनिल कुमावत, नारायण कुमावत व अंकित को बचा कर ले गए और हाथीपोल थाने में उन्हें सुरक्षित बिठाया. अस्पताल में अचानक हुई जूतमपेजार के कई लोगों के खून भी आ गए. इस दौरान कांगे्रस के शहर जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा सहित कांगे्रस के कई पदाधिकारी एवं युवा नेता वहां पहुंच गए. कुछ समझाईश में लगे तो कुछ आवेश में आकर हाथ-पांव चलाने लगे. वहां खड़े अन्य तिमारदार यह दृश्य देखकर चकित रह गए. हंगामे की सूचना पर पुलिस उप अधीक्षक भंवर सिंह हाड़ा, हाथीपोल थानाधिकारी रविंद्र चारण, यातायात निरीक्षक नेत्रपाल, चैनाराम सहित हाथीपोल थाने का जाब्ता और सुखेर थाने से एएसआई नारायण सिंह वहां पहुंच गए. दोनों पक्षों को समझाईश कर माहौल शान्त किया. शव को एम.बी. चिकित्सालय के मुर्दाघर में रखवाया है. पोस्टमार्टम गुरुवार को मेडिकल बोर्ड से होगा. बताया गया है कि मृतका का पति अनिल एसबीआई बैंक की शाखा बड़ी में नौकरी करता है.

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*