भारतीय रेल तेज रफ्तार पकड़ने की तैयारी में

नई दिल्‍ली . देश की लाइफलाइन कही जाने वाली भारतीय रेलवे अब तेज रफ्तार पकड़ने की तैयारी में है. एक जून से सौ जोड़ी ट्रेनें पटरी पर उतरेंगी. टिकट बुकिंग के लिए शुक्रवार से ही काउंटर खुल गए हैं. कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने में रेल मंत्रालय महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है.

shramik-specials

रेलवे की ओर से इस बात का पूरा ख्याल रखा जा रहा है कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में यात्रियों को किसी प्रकार की तकलीफ ना हो. यात्रियों को राहत देने के लगातार प्रयासों के बीच रेल मंत्रालय ने अब अगले 10 दिनों में 2600 और श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है.

  मोदी कैबिनेट ने योजनाओं से जुड़ी सुविधा की अवधि बढ़ाने को दी मंजूरी

भारतीय रेलवे ने 1 मई से पूरे देश में 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया है. जिसके तहत देशभर में 45 लाख से अधिक लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया है. वहीं, अगले 10 दिनों में 2,600 और ट्रेनों के संचालन की योजना है.

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने कहा कि हमने दूसरे राज्यों में फंसे हुए प्रवासी कामगारों और मजदूरों को उनके गृह राज्य भेजने के लिए 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलानी शुरू कीं. अब तक 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया गया है.

यादव ने रेलवे की भविष्य की योजनाओं पर कहा कि राज्य सरकारों के साथ रेलवे ने अगले 10 दिनों के लिए एक योजना तैयार की है. आने वाले दस दिनों में 2,600 ट्रेनें संचालित होने वाली हैं और हम 36 लाख से अधिक यात्रियों को उनकी मंजिल तक पहुंचाएंगे.

  रेलवे ने कई स्पेशल ट्रेनों के टाइम में किया बदलाव

उन्होंने कहा कि हम राज्य सरकार के अनुरोध पर ट्रेनों की व्यवस्था करेंगे क्योंकि हमारी ट्रेनें हर डिवीजन में रखी गई हैं. हम राज्य के भीतर ट्रेन चलाने के लिए तैयार हैं. उन्होंने प्रवासी मजदूरों को भरोसा दिलाया कि रेलवे ने उन्हें भेजने के लिए सभी इंतजाम किए हैं. जब तक सभी प्रवासी कामगार अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच जाते, तब तक ट्रेनें चलती रहेंगी.

ऑनलाइन टिकट बुकिंग में परेशानी संबंधी शिकायतों के बारे में यादव ने कहा कि उन्हें शिकायतें मिलीं कि लोग ऑनलाइन टिकट बुक नहीं कर पा रहे हैं. इसलिए देशभर में 1,000 से अधिक टिकट बुकिंग की खिड़कियों को खोला गया है. आने वाले दिनों में और काउंटर खुलेंगे.

  मोदी कैबिनेट की बैठक में लिए फैसले मुफ्त अनाज मजदूरों को किराए पर घर

इसके साथ ही, IRCTC एजेंट, पोस्ट ऑफिस, कॉमन सर्विस सेंटर्स आदि को भी टिकट उपलब्ध कराने की अनुमति दी गई है. इससे पहले सिर्फ रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट और ऐप से ही टिकट बुकिंग की अनुमति थी.

रेलवे के नए नियमों के मुताबिक इन ट्रेनों में अब 7 दिन पहले की बजाए 30 दिन पहले टिकट की बुकिंग कराई जा सकेगी. बता दें कि रेलवे ने स्पेशल एसी ट्रेनों के लिए बुकिंग की समय-सीमा को 7 दिनों से बढ़ाकर अब 30 दिन करने का फैसला किया है. साथ ही इन 15 जोड़ी विशेष एसी ट्रेनों में आरएसी या प्रतीक्षा सूची (वेटिंग लिस्ट) टिकट भी जारी किए जा सकेंगे.


Check Also

रीवा अल्‍ट्रा सोलर प्रोजेक्‍ट को लेकर बयानबाजी

पीएम ने रीवा सौर ऊर्जा परियोजना को बताया एशिया में सबसे बड़ा, राहुल ने किया …