अवैध शराब कारोबारियों के खिलाफ सघन जॉच अभियान चला

जयपुर (jaipur) . चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने भरतपुर (Bharatpur) सर्किट हाउस में आयोजित बैठक में पुलिस (Police) व प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि भरतपुर (Bharatpur) जिले में अवैध शराब कारोबारियों के खिलाफ सघन जॉच अभियान चलायें और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करें जिसमें कोई कोताही नहीं बरतेें.
डॉ. गर्ग ने कहा कि ऐसी सूचनायें मिल रही हैं कि सीमावर्ती क्षेत्रों के अवैध शराब कारोबारी जिले में अवैध शराब लाकर विक्रय कर रहे हैं ऐसे कारोबारियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्यवाही करें.

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा भरतपुर (Bharatpur) शहर में भी अवैध शराब विक्रेताओं के खिलाफ जॉच का सघन अभियान चलायें और यह भी सुनिश्चित करें कि अनुज्ञापत्रधारी शराब की दुकानें निर्धारित समय पर बन्द हों. निर्धारित समय के बाद भी यदि कोई व्यक्ति शराब बेचता पाया जाये तो उसके खिलाफ भी कार्यवाही करें. डॉ. गर्ग ने बताया कि रूपवास क्षेत्र के तीन गॉवों के लोगों द्वारा अवैध शराब के सेवन के पश्चात् बीमार हुये लोगों की हालत अब धीरे धीरे ठीक होने लगी है और चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश भी दिये हैं कि उनका समुचित ईलाज करें.

  उत्तर पश्चिम भारत में जल्द होगी झमाझम बारिश

राज्य सरकार (State government) द्वारा अवैध शराब के सेवन के पश्चात बीमार लोगों को 50-50 हजार रूपये की सहायता राशि शीघ्र मुहैया कराई जा रही है और सरकार के निर्देश पर इन गॉवों में परिजनों को सांत्वना देने तथा उनकी हालत का जायजा लेने के लिये गृह रक्षा राज्य मंत्री भजनलाल जाटव को भेजा जा रहा है. बैठक में गृह रक्षा राज्य मंत्री भजनलाल जाटव, जिला कलक्टर (District Collector) नथमल डिडेल, जिला पुलिस (Police) अधीक्षक देेवेन्द्र सिंह विश्नोई, अतिरिक्त जिला कलक्टर (District Collector) शहर केके गोयल, नगर निगम आयुक्त राजेश गोयल सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे.

  इस बार महाशिवरात्रि पर बंद रहेगा श्री एकलिंगजी मंदिर

नेत्र रोगियों के समय पर हों ऑपरेशन- डॉ. गर्ग:- चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने रामकटोरी देवी राजकीय नेत्र चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण किया जहॉ इन्जेक्शनों की कमी की वजह से नेत्र ऑपरेशन नहीं होने पर रोष व्यक्त करते हुये कहा कि इन्जेक्शन एवं अन्य सामग्री का पर्याप्त स्टॉक रखें ताकि सभी नेत्र रोगियों के मोतियाबिंद के ऑपरेशन हो सकें. निरीक्षण के दौरान डॉ. गर्ग ने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि नेत्र ऑपरेशन के काम में आने वाले इन्जेक्शनों की सप्लाई शनिवार (Saturday) तक आवश्यक रूप से सुनिश्चित करें जिससे ऑपरेशनों का कार्य पुन: प्रारम्भ हो सके.

  जहरीला पदार्थ देकर पत्नी और बच्चों की हत्या करने वाले शख्स को फांसी की सजा

उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि बकाया भुगतान शीघ्र किये जायें जिससे सामग्री की आपूर्ति समय पर होती रहे. उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को भी निर्देश दिये कि उनके अधीन कार्यरत नेत्र सहायकों को नेत्र चिकित्सालय में कार्यव्यवस्था के लिये भिजवायें जिससे नेत्र चिकित्सा कार्य में सुविधा मिल सके इस अवसर पर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. रजत श्रीवास्तव व जनाना अस्पताल के प्रभारी डॉ. रूपेन्द्र झा आदि उपस्थित थे.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *