Thursday , 21 October 2021

जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड के आरोप का इनवेस्को ने दिया जबाव

मुंबई (Mumbai) . जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड की सबसे बड़े शेयरधारक इनवेस्को ने स्वीकार कि उसके द्वारा रिलायंस और जी एंटरटेनमेंट के बीच संभावित सौदे को सुविधाजनक बनाने की कोशिश की थी, लेकिन कम मूल्यांकन पर समझौता तय करने या लेनदेन के लिए कोई दबाव नहीं डाला था. इनवेस्को की तरफ बयान दरअसल जी एंटरटेनमेंट के प्रमुख पुनीत गोयनका के बयान के बाद आया है.उन्होंने इनवेस्को पर इस साल फरवरी में एक बड़े भारतीय समूह (रणनीतिक समूह) के स्वामित्व वाली कंपनी और कुछ संस्थाओं के साथ विलय के लिए एक प्रस्ताव लाने का आरोप लगाया था. इनवेस्को ने बताया कि रिलायंस उसमें से एक बड़ा भारतीय समूह था.जबकि जी ने शेयर बाजार को जानकारी में हालांकि उस ‘रणनीतिक भारतीय समूह (रिलायंस) के नाम का खुलासा नहीं किया था. इनवेस्को ने कहा, हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि रिलायंस द्वारा प्रस्तावित संभावित लेनदेन पर रिलायंस और गोयनका तथा ज़ी के प्रवर्तक परिवार से जुड़े अन्य लोगों के बीच बातचीत हुई थी.’’
प्रवर्तक परिवार और इनवेस्को के बीच जारी लड़ाई में जी एंटरटेनमेंट ने कहा कि उसके प्रबंध निदेशक और सीईओ पुनीत ने अपने बोर्ड को विलय के बारे में इनवेस्को द्वारा लाए गए एक प्रस्ताव के बारे में बताया था, जिसके तहत रणनीतिक समूह के पास बहुमत हिस्सेदारी होती. जी एंटरटेनमेंट ने इसके अलावा आरोप लगाया है कि अपने खुले पत्र में इनवेस्को का रुख कि वे ‘‘किसी भी इसतरह के रणनीतिक सौदे का दृढ़ता से विरोध करेंगा, जो सामान्य शेयरधारकों की कीमत पर प्रवर्तक परिवार जैसे चुनिंदा शेयरधारकों को गलत तरीके से फायदा पहुंचाता है.’’

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *