Thursday , 21 October 2021

पाकिस्तान की तालिबान को मान्यता दिलाने की कोशिशों को इटली ने सिरे से खारिज किया

रोम . अफगानिस्तान की कट्टर इस्लामिक तालिबान सरकार को वैश्विक रूप से मान्यता दिलाने की पाकिस्तान की कवायद लगातार नाकाम सिद्ध हो रही हैं. यूरोपिय देश इतनी आसानी से उसकी बातों में नहीं आने वाले हैं. अब इटली ने भी यह साफ कर दिया है. इटली ने कहा है कि अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार को मान्यता नहीं दी जा सकती. हालांकि, इटली ने मानवीय पहलू दिखाते हुए यह जरूर कहा कि मुसीबत में फंसे अफगानों की मदद होनी चाहिए. खबर के मुताबिक, इटली के विदेश मंत्री लुइगी डि माईओस ने कहा कि तालिबान की सरकार को मान्यता देना असभंव है क्योंकि उसमें 17 आतंकियों को मंत्री बनाया गया है. साथ ही साथ अफगान में अब महिलाओं और लड़कियों के मानवाधिकार का लगातार उल्लंघन हो रहा है.

  कश्मीर में बढ़ते इस्लामी आतंकवाद के खिलाफ भारतीय-अमेरिकी समुदाय ने किया प्रदर्शन

बता दें कि इटली आने वाले दिनों में अफगान मसले पर खास जी-20 समिट बुलाने के पक्ष में है. एक टीवी इंटरव्यू में विदेश मंत्री लुइगी ने आगे कहा कि दूसरे देशों की सरकारों को मिलकर यह जरूर तय करना चाहिए कि अफगान का वित्तीय पतन ना हो, वरना प्रवासियों की संख्या में भारी इजाफा हो जाएगा. इटली के विदेश मंत्री ने कहा कि वित्तीय मदद जिसको रोका गया था, वह अफगान के लोगों को फिर से मिलने लगेगी. लुइगी ने कहा, ‘ऐसे कई रास्ते हैं जिससे तालिबान को पैसा दिए बिना भी अफगान के लोगों की आर्थिक मदद हो सकती है.’ इटली के विदेश मंत्री आगे बोले कि पड़ोसी देशों की स्थिति खराब ना हो, इसका ध्यान रखते हुए प्रवासी संकट को कम करना जरूरी है.

  नासा चंद्रमा पर वाई-फाई स्थापित करने पर कर रही विचार, अतंरिक्ष में इंटरनेट की परेशानी से मिलेगी निजात

पाकिस्तान शुरुआत से अफगान में तालिबान सरकार के पक्ष में है. इतना ही नहीं ऐसी खबरें भी सामने आई थीं कि अफगान पर कब्जे में पाकिस्तान ने तालिबान की हर तरह से मदद की थी. अब पाकिस्तानी पीएम इमरान खान तालिबान को मान्यता के लिए दुनिया को मनाने की कोशिश में हैं. इतना ही नहीं पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी संयुक्त राष्ट्र में तालिबान का बचाव करते नजर आए थे. हालांकि, यूरोपीय संसद ने पाकिस्तान की तालिबान को मान्यता दिलाने की कोशिशों पर आश्चर्य जताया गया था.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *