अश्विन और अक्षर पटेल से स्पिन की बारीकियां सीखने के उत्सुक हैं जैक लीच


अश्विन गेंद को एक ही जगह टप्पा खिलाते है और गेंदों में बदलाव कर पाते हैं

लंदन . गुलाबी गेंद से खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में भारतीय स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल की गेंदबाजी से प्रभावित इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर जैक लीच ने कहा कि वह गुरूवार से अहमदाबाद (Ahmedabad) में शुरू हो रहे चौथे और अंतिम मैच में इस भारतीय जोड़ी से स्पिन गेंदबाजी की बारीकियां सीखने के लिए उत्सुक हैं. भारतीय टीम ने दिन रात्रि टेस्ट मैच को दो दिनों के अंदर 10 विकेट से जीतकर चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 की बढ़त कायम की है. मोटेरा की स्पिनरों की मददगार पिच में अश्विन और अक्षर ने इंग्लैंड के 20 में से 18 विकेट झटके थे.

लीच ने लिखा कि जब आप खिलाड़ियों को इतनी सफलता पाते हुए देखते हैं जैसे कि रविचंद्रन अश्विन, जिन्होंने टेस्ट में अभी-अभी 400 विकेट पूरे किए है और भारत में उन्हें काफी अनुभव है. अक्षर पटेल ने टेस्ट क्रिकेट में शानदार शुरुआत की है ऐसे में आप निश्चित रूप से उनसे सीखने की कोशिश करते हैं. यह जरूरी है कि आप इसे भावनात्मक रूप से जोड़कर नहीं देखें और ना ही ऐसा सोचे कि ‘मैं उनकी तरह ही गेंदबाजी करना चाहता हूं’. बाएं हाथ के इस गेंदबाज ने कहा कि अश्विन दायें हाथ के गेंदबाज हैं, ऐसे में मैं उनकी तरह गेंदबाजी नहीं करना चाहता हूं. अक्षर बायें हाथ के गेंदबाज हैं और मुझ से लंबे हैं, मैं अपना कद नहीं बदल सकता हूं. इस 29 साल के गेंदबाज ने कहा कि अश्विन गेंदबाजी में बदलाव करने के मामले में काफी चतुर है. वह गेंद को एक ही जगह टप्पा खिलाते है और वह जिस तरह सीम और गेंद के दूसरे हिस्से का इस्तेमाल करते है उससे काफी बदलाव आता है.

उन्होंने कहा कि अक्षर ऐसे गेंदबाज है जो टप्पा खिलाने की जगह को लेकर ज्यादा बदलाव नहीं करते है. वह सीम के इस्तेमाल से पिच से मदद प्राप्त करते है. हम जिन पिचों पर हाल में खेले है उस पर वह काफी प्रभावी रहे हैं. लीच चौथे टेस्ट की चुनौती के लिए तैयार है और तीसरे टेस्ट में भारतीय शीर्ष क्रम के चार बल्लेबाजों के विकेट झटकने के बाद उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ा है. हम सभी नया सीखने के लिए और चुनौती से उत्साहित हैं. उन्होंने कहा कि आपको इसके लिए तैयार रहना होगा क्योंकि अगर यह इतना आसान होता तो यह टेस्ट मैच नहीं होता. यह कुछ ऐसा है (भारतीय शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के विकेट) जिसे मैं याद कर रहा हूं. रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे के विकेट से बेहतर चार विकेट मुझे नहीं मिलेंगे. मैं उन विकेटों से खुश हूं, जिन्हें मैंने लिया है. दुनिया के कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों को उनके घर में गेंदबाजी करना आसान नहीं है. मुझे नहीं लगता कि मुझे इससे बेहतर चार विकेट मिलेंगे. इससे मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ा हैं.

 

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *