जामिया हिंसा: दिल्ली पुलिस का नोटिस मिलने पर बोले आसिफ मोहम्मद खान, मेरे खिलाफ सबूत नहीं

नई दिल्ली . दिल्ली के न्यू फ्रेंडस कालोनी हिंसा मामले में आरोपी बनाए गए कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान को क्राइम ब्रांच ने नोटिस जारी कर पूछताछ में शामिल होने के लिए कहा है. दिल्ली पुलिस ने यह नोटिस सीआरपीसी के सेक्शन 160 के तहत जारी कर 24 जनवरी को क्राइम ब्रांच के सामने पेश होने के लिए कहा है. दिल्ली पुलिस के नोटिस पर आसिफ मोहम्मद ने कहा कि पुलिस के पास मेरे खिलाफ कोई सबूत नहीं है. उन्होंने कहा है कि जब बसों में आग लगाई जा रही थी उस वक्त मैं शाहीन बाग के चल रहे प्रदर्शन में शामिल था.

  मालवीय नगर थाने में पहुंचा कोरोना एक साथ 10 पुलिसकर्मी संक्रमित मिलने से हड़कंप

इस दौरान पुलिस मेरे भाषण को रिकॉर्ड कर रही थी और यह मेरा सबसे बड़ा सबूत है. आसिफ मोहम्मद के अलावा क्राइम ब्रांच ने स्थानीय नेता आशू खान को भी नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया है. दिल्ली पुलिस ने आसिफ खान और आशू खान को एक ही दिन यानी 24 जनवरी को तलब किया है. वही पिछले साल दिसंबर महिने में जामिया मिलिया इस्लामिया के पास हिंसा मामले में आसिफ मोहम्मद खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. इसके बाद पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान 18 दिसंबर को जामिया नगर थाने भी पहुंच गये थे और कहा था कि पुलिस को अगर लगता है कि मैं दोषी हूं तो मुझे गिरफ्तार करे. हालांकि पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार नहीं किया था.

  सुप्रीम कोर्ट में शारजील इमाम की याचिका पर सुनवाई, सॉलिसिटर जनरल ने मांगा जबाव

Check Also

डेटिंग एप पर फर्जी प्रोफाइल बना महिलाओं को ब्लैकमेल करने वाले गिरफ्तार

नई दिल्ली (New Delhi). कई डेटिंग एप पर फ़र्ज़ी प्रोफाइल बनाकर पूरे देश में महिलाओं …