कंगाल पाक के मंत्री ने देश में तकनीकी विकास रुकने के लिए कोर्ट को जिम्मेदार बताया

इस्लामाबाद . रूग्ण अर्थव्यवस्था के चलते बदहाल हो चुके पाकिस्तान के मंत्री अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं. अब पाक के मंत्री फवाद चौधरी ने अपने देश के विकास के रुकने का ठीकरा अदालतों पर फोड़ दिया है.

मंत्री फवाद चौधरी ने दुनिया में डिजिटल क्षेत्र में तेजी से हो रहे बदलाव का उल्लेख करते हुए कहा कि पूर्व में तकनीकी मामलों पर कुछ अदालतों के फैसलों से देश के प्रौद्योगिकी क्षेत्र के विकास पर नकारात्मक असर पड़ा. पाकिस्तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी रावलपिंडी में फातिमा जिन्ना महिला विश्वविद्यालय में दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मीडिया (Media) सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

  सेल से ढ़ाई हजार में खरीदे चीनी म‍िट्टी के कटोरे ने बदली किस्मत, निकली चीन की कलाकृति

उन्होंने कहा, ‘न्यायाधीशों को प्रौद्योगिकी मामलों से जुड़े मामलों की सुनवाई में दखल से बचना चाहिए क्योंकि पूर्व के कुछ फैसलों के कारण डिजिटल और प्रौद्योगिकी कंपनियों के साथ पाकिस्तान के संबंधों पर असर पड़ा.” उन्होंने पाकिस्तान दूरसंचार प्राधिकरण (पीटीए) के पिछले साल चीनी वीडियो शेयरिंग एप टिकटॉक पर पाबंदी लगाने की आलोचना की. अनैतिक विषयवस्तु को लेकर कई शिकायतें मिलने के बाद पिछले साल अक्टूबर में एप पर पीटीए ने रोक लगा दी थी. कंपनी द्वारा अनैतिक विषयवस्तु को हटाने का आश्वासन दिए जाने के बाद पाबंदी हटायी गई.

  कई देशों में फिर कोरोना का कहर तेज, टीकाकरण की और बढ़ानी होगी गति

चौधरी ने कहा कि न्यायाधीशों के साथ अपनी बैठक में उन्होंने कहा था कि प्रौद्योगिकी और डिजिटल क्षेत्र की कंपनियों के लिए डर का माहौल बनाना ठीक नहीं होगा. उन्होंने कहा कि डिजिटल क्षेत्र में तेजी से बदलाव हो रहा है और सरकार को अगले 10-15 वर्ष में होने वाले परिवर्तन को ध्यान में रखकर कोई फैसला करना चाहिए.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *