Sunday , 28 February 2021

केरल के विस्फोट बल्लेबाज अजहरूद्दीन ने कहा कि, खेल का लुत्फ उठा रहे, IPL नीलामी की चिंता नहीं

चेन्नई (Chennai) . सैयद मुश्ताक अली ट्राफी टी20 टूर्नामेंट में मुंबई (Mumbai) के खिलाफ 37 गेंद में शतकीय पारी खेलकर सुर्खिया पाने वाले केरल (Kerala) के बल्लेबाज मोहम्मद अजहरूद्दीन ने कहा कि वह अपने खेल का लुत्फ उठा रहे है, लेकिन अगले महीने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल (Indian Premier League)) की खिलाड़ियों की नीलामी के बारे में नहीं सोच रहे है. खिलाड़ी से जब आईपीएल (Indian Premier League) नीलामी के बारे में पूछा गया,तब उन्होंने कहा कि वह उसे लेकर चिंतित नहीं है.

उन्होंने कहा कि मैं अच्छे लय में हूं. मैं आईपीएल (Indian Premier League) नीलामी या किसी और चीज को लेकर चिंतित नहीं हूं. मेरा ध्यान आंध्र के खिलाफ होने वाले अगले मैच पर है. केरल (Kerala) के विकेटकीपर बल्लेबाज की यह पारी किसी भारतीय द्वारा टी20 में खेली गयी तीसरी सबसे तेज शतकीय पारी है. उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्होंने कोई खास तैयारी नहीं की थी. उन्होंने कहा कि पूर्व कोच डेव वाटमोर ने उन्हें बल्लेबाजी क्रम में नीचे कर दिया था जिससे उनका खेल प्रभावित हुआ.

  चीन में 7 बच्चे पैदा करना कपल को पड़ा मंहगा, 1 करोड़ से अधिक की राशि सोशल सपोर्ट फीस दी

अजहरूद्दीन ने कहा कि मैं सलामी बल्लेबाज हूं, जब डेव वाटमोर कोच बने,तब उन्होंने मुझे मध्यक्रम का बल्लेबाज बना दिया. टीम की जरूरत के मुताबिक मुझे बल्लेबाजी के लिए निचले क्रम में आना पड़ा, जो मेरे लिये ठीक नहीं था. मैंने मौजूदा कोच (टीनू योहानन) से पारी का आगाज करने देने की गुजारिश की. मैं सीधा खेलना चाहता हूं. तेज और स्पिन गेंदबाज के खिलाफ गेंद को स्ट्रेट में मारना मेरी एक ताकत है. मुंबई (Mumbai) के खिलाफ विकेट अच्छी थी और आत्मविश्वास के साथ खेला. उनका लक्ष्य आईपीएल (Indian Premier League) खेलना और रणजी ट्राफी में शतक बनाना है.

  अब अमेरिका की ओर से खेलते नजर आयेंगे अरोनियन

अजहरूद्दीन ने कहा कि इस साल नहीं. लेकिन मेरा कुछ लक्ष्य जरूर है, मै आईपीएल (Indian Premier League) खेलना चाहता हूं और रणजी ट्राफी में कुछ शतक लगाना चाहता हूं. केरल (Kerala) के इस खिलाड़ी से भारत के पूर्व कप्तान और हैदराबाद के दिग्गज बल्लेबाज मोहम्मद अजहरूद्दीन का अनुकरण करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा उनके नाम से लेकर क्रिकेट करियर का फैसला उनके बड़े भाई कमरूद्दीन ने किया. मैं दो-तीन बार उनसे मिला हूं. एक बार अपने गृहनगर में और दूसरी बार हैदराबाद में रणजी मैच खेलते समय जब वह घरेलू टीम के कोच थे. मैंने उन्हें मोहम्मद अजहरूद्दीन सर को बताया कि उनसे प्रेरित होकर मेरा नाम रखा गया था.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *