बिना पैर काटे कैंसर मुक्त किया घुटना


उदयपुर (Udaipur). बेडवास स्थित जीबीएच जनरल हॉस्पीटल में युवती के घुटने में हुए कैंसर का ऑपरेशन कर पैर कटने से बचाया गया. आमतौर पर ऐसे मामले में पैर काटना ही विकल्प रहता है. इस तरह की सर्जरी दक्षिणी राजस्थान (Rajasthan)में पहली बार संभव हुई है और मरीज का ऑपरेशन पूर्णतः निःशुल्क किया गया.

ग्रुप डायरेक्टर डॉ. आनंद झा ने बताया कि पिछले दिनों बदामी रावत (20) को परिजन जीबीएच जनरल हॉस्पीटल के जोड़ एवं अस्थि रोग विभाग के डॉ. नवीन राठौड़ के पास लेकर पहुंचे थे. युवती के छह महीने पहले घुटन में दर्द की शिकायत थी. इस पर परिजन उन्हें मसलाने ले गए थे, जहां हड्डी टूट गई थी. कई जगह दिखाने पर घुटने में कैंसर बताया गया और पैर काटना ही विकल्प बताया. इस पर परिजन यहां जीबीएच जनरल हॉस्पीटल लेकर पहुंचे.

  संक्रांति पर ग्रामीण बच्चों को बेट, गेंदें, टॉफियां वितरित

यहां एमआरआई व सीटी स्कैन रिपोर्ट के बाद कैंसरग्रस्त भाग की सर्जरी की गई. वहां सफाई करते हुए टूटी हुई हड्डी जोड़ी गई. डॉ. नवीन राठौड़ के अनुसार इस तरह का कैंसर 20 से 40 वर्ष की महिलाओं में होता है, लेकिन कैंसरग्रस्त हिस्से की सफाई कर पैर बचाते हुए हड्डी जोड़ने का ऑपरेशन दक्षिणी राजस्थान (Rajasthan)में पहली बार संभव हुआ है. यह ऑपरेशन डॉ. नवीन राठौड़, डॉ. एसके भटनागर और निश्चेतना विभाग से डॉ. अनिता सुराणा की टीम ने किया.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *