पाकिस्तान में गरीबों को कोरोना से मरता छोड़

नई दिल्ली (New Delhi) . प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार पाकिस्तान में सुशासन का दावा करते हैं. हालांकि उनके इस दावे की बुधवार (Wednesday) को हवा निकल गई. एक लीक हुए सरकारी दस्तावेज से पता चला है कि इमरान सरकार पाकिस्तान की जनता के लिए कोरोना (Corona virus) के टीके खरीदने की जगह, वीवीआईपी के लिए विमान खरीदने के लिए पैसा खर्च कर रही है.

पश्तून मीडिया (Media) के एक ट्विटर हैंडल के अनुसार, पाकिस्तान ने अपनी गरीब आबादी के लिए टीके खरीदने के लिए एक पैसा नहीं दिया है लेकिन वीवीआईपी एयरक्राफ्ट खरीदने के लिए करीब 20 लाख अमेरिकी डॉलर (Dollar) खर्च कर रही है. वीवीआईपी विमानों के बारे में जानकारी साउथ एशिया प्रेस द्वारा साझा की गई थी.

ट्वीट में कहा गया है, के हाथ लगे एक गुप्त पाकिस्तानी सरकारी दस्तावेज से पता चलता है कि कैबिनेट डिवीजन विमान पर अतिरिक्त 0.3 बिलियन रुपये (करीब 20 लाख अमेरिकी डॉलर (Dollar)) खर्च करने के लिए कल एक स्वीकृति देगा. इस विमान का उपयोग पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और राष्ट्रपति के द्वारा किया जाएगा. आपको बता दें कि सरकारी दस्तावेज पर 6 अप्रैल 2021 की तारिख दर्ज है. इसमें कहा गया है कि मंत्रिमंडल की आर्थिक समन्वय समिति (ईसीसी की बैठक बुधवार (Wednesday) 7 अप्रैल, 2021 को होगी. इस पत्र के अनुसार, वित्त और राजस्व मंत्री बैठक की अध्यक्षता करेंगे. आपको बता दें कि पाकिस्तान में कोरोनो वायरस के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है. वहीं, टीकाकरण के लिए लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है.

पिछले 24 घंटों की बात करें तो पाकिस्तान में 3,953 नए मामले सामने आए. देश में कोविड-19 (Covid-19) मामलों की कुल संख्या 6,96,184 हो गई है. रमजान से पहले कोविड-19 (Covid-19) के प्रसार पर बढ़ती चिंताओं के बीच, पाकिस्तान ने पिछले रविवार (Sunday) को 3,568 कोरोना (Corona virus) रोगियों की रिपोर्ट की थी. महामारी (Epidemic) शुरू होने के बाद से यह सबसे अधिक संख्या है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *