Thursday , 28 January 2021

भारतीयों का हल्का प्रदर्शन, 3 खिलाड़ी रन आउट, 12 साल बाद फिर बना शर्मनाक रिकॉर्ड

सिडनी . ऑस्ट्रेलिया के सिडनी मैदान में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारतीय बल्लेबाजों ने हल्का प्रदर्शन करते हुए आसानी से हथियार डाल दिए, जिससे ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 244 रनों पर ढेर कर पहली पारी में 94 रन की मजबूत बढ़त हासिल कर ली. भारत के लिए सिर्फ शुभमन गिल (50) और चेतेश्वर पुजारा (50) ही अर्धशतक जड़ पाए. भारतीय बल्लेबाजों ने खराब प्रदर्शन तो किया. वहीं, 3-3 रन आउट ने भारतीय उम्मीदों पर पानी फेर दिया. भारत की पहली पारी के दौरान हनुमा विहारी (4), रविचंद्रन अश्विन (10) और जसप्रीत बुमराह (0) रनआउट हुए. इसी के साथ ही टीम इंडिया के नाम ऐसा शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया, जो कोई भी टीम अपने नाम नहीं करना चाहेगी.

  एसीएल में पिछले साल के उपविजेता परसेपोलिस के साथ एक ही ग्रुप में

भारत के टेस्ट इतिहास में सातवीं बार एक टेस्ट पारी में तीन या उससे ज्यादा बल्लेबाज रन आउट हुए. पिछली बार 12 साल पहले 2008 में इंग्लैंड के खिलाफ मोहाली टेस्ट की दूसरी पारी में वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह और वीवीएस लक्ष्मण रन आउट हुए थे. भारतीय पारी के 68वें ओवर में नाथन लियोन की गेंद पर हनुमा विहारी ने मिड ऑन पर शॉट लगाया और रन के लिए भागे. वहां खड़े जोश हेजलवुड ने डाइव लगाते हुए गेंद को पकड़ा और विकेट पर डायरेक्ट थ्रो मार दी. विहारी अपनी क्रीज में नहीं पहुंच पाए और रन बनाकर पवेलियन लौट गए. अगला नंबर रविचंद्रन अश्विन का था. पारी के 93वें ओवर में कैमरन ग्रीन की गेंद पर रवींद्र जडेजा ने मिडऑफ पर खेलकर 1 रन लेना चाहा. मिडऑफ पर खड़े कमिंस ने कीपर के एंड पर थ्रो किया. जब तक अश्विन क्रीज में पहुंच पाते उससे पहले ही लाबुशेन ने गिल्लियां बिखेर दी थीं. वैसे भी अश्विन विकेटों के बीच दौड़ उतने तेज नहीं हैं.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *