बगैर वैक्सीन प्रमाण पत्र के नहीं मिलेगी शराब


इटावा . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा में कोरोना संक्रमण को रोकने की दिशा में वैक्सीन लगावाने को लेकर सैफई के उपजिलाधिकारी (एसडीएम) ने एक अनूठी पहल करते हुए शराब विक्रेताओं को निर्देशित किया है कि वह किसी को भी बगैर प्रमाण पत्र के शराब की ब्रिकी नहीं करें और इसका असर दिखाई भी देने लगा है. उपजिलाधिकारी हेमसिंह के अनुसार शनिवार (Saturday) को उन्होंने ठेकेदारो (शराब बिक्री के लाइसेंस धारकों) से बगैर वैक्सीन प्रमाण पत्र के किसी को शराब की बिक्री नहीं करने की अपील की थी. एसडीएम की अपील के बाद अब शराब खरीदने वाले वैक्सीन लगावाने का प्रमाण पत्र लेकर आ रहे है.

  दिल्ली नाबालिग रेप केस पीड़ित परिजनों से मिले राहुल गांधी दिलाया न्याय का भरोसा

एसडीएम सिंह ने सैफई तहसील में कोरोना वैक्सीनेशन को बढ़ावा देने की इस अनूठे प्रयोग की जहां जमकर चर्चा हो रही है वहीं लोगों उनकी प्रशंसा भी कर रहे हैं. उन्होंने शराब व बीयर ठेका संचालकों से अपील की है कि कोरोना का टीका लगवा चुके लोगों को ही शराब बेचें. इसके लिए वह समय-समय पर दुकानों की जांच भी करेंगे. विदित हो कि अलीगढ़ में जहरीली शराब से हुई लोगों की मौत के बाद एसडीएम हेमसिंह और सीओ राकेश वरिष्ठ और आबकारी विभाग की टीम के साथ शराब व बीयर की दुकानों का निरीक्षण करने निकले थे.

  सीएम ने शिव मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेश के लिए मांगी सुख समृद्धि

दुमीला तिराहे और गीजा गांव में दुकानों की जांच के बाद एसडीएम ने शराब दुकानों के सामने वैक्सीनेशन के लिए जागरूक करने वाले पोस्टर लगाने के निर्देश दिए. एसडीएम ने ठेका संचालकों और सेल्समैनों से कहा कि 45 वर्ष आयु से अधिक उम्र के व्यक्ति को शराब-बीयर तभी दें जब वह कोरोना का टीका (वैक्सीनेशन) लगवाने का कार्ड दिखाए. टीका न लगवाने वाले को शराब न दें.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *