लॉकडाउन- पुजारी बेहाल, मंदिरों में नहीं आ रहा दान, सीएम योगी से लगाई मदद की गुहार


सहारनपुर. कोरोनाकाल में देश के सभी स्कूल, कॉलेज, कार्यालय, धार्मिक स्थल बंद है. ऐसे में लोगों की आर्थिक दशा खराब हो गई. इसका प्रभाव मंदिर के पुजारियों पर भी देखने को मिल रहा है. लॉकडाउन (Lockdown) के बाद से लोग मंदिर नहीं जा रहे न ही मंदिर में दान कर रहे हैं न ही किसी धार्मिक अनुष्ठान के लिए पुजारियों को घर पर ही बुला रहे है. ऐसे में पुजारियों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है.

  परीक्षा कैलेंडर को अंतिम रूप दे और विवि में खाली पदों भरे: उपराष्ट्रपति

ज्ञात हो कि सहारनपुर के पुजारियों के एक समूह ने सरकार (Government) से आर्थिक सहायता की गुहार लगाई है. सहारनपुर के मंदिरों के पुजारियों और ब्रह्मवृत्ति एवं पुरोहित कर्म करने वाले ब्राह्मणों ने प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपा है. सनातन संरक्षण संघ के प्रतिनिधि मंडल ने जिलाधिकारी अखिलेश सिंह के माध्यम से मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन सौंपा है. इसमें उन्होंने राज्य सरकार (Government) से मदद की गुहार लगाई है. इस ज्ञापन में उन्होंने कोरोना के संकट काल में उनको होने वाली परेशानियों की जानकारी भी दी है. साथ ही जल्द ही उन्हें मदद करने की बात कही गई है.

  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के संबंध में निर्देश जारी

ज्ञापन में कहा गया है कि लॉकडाउन (Lockdown) के कारण मंदिर बंद होने के कारण पुजारियों वह ब्रह्मवृत्ति एवं पुरोहित कर्म से जीवन यापन करने वाले ब्राह्मण आज भुखमरी के कगार पर आ गए हैं. उनके पास आय का कोई साधन फिलहाल नहीं बचा है. सीएम योगी के नाम लिखे ज्ञापन में संगठन ने मांग की है कि उन्हें मासिक वेतन के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान किया जाए. ताकि परेशानी के इस दौर में उन्हें मदद मिल सके.

  भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर देश को सच नहीं बता रही है सरकार : चिदंबरम

Check Also

रीवा अल्‍ट्रा सोलर प्रोजेक्‍ट को लेकर बयानबाजी

पीएम ने रीवा सौर ऊर्जा परियोजना को बताया एशिया में सबसे बड़ा, राहुल ने किया …