प्रदेश के कई इलाकों में टिड्डियों का हमला

कृषि मंत्री ने कहा प्रदेश के किसानों को मुआवजा देगी सरकार, नुकसान का सर्वेक्षण कराया जाएगा

भोपाल . कोरोना और गर्मी से परेशान मध्य प्रदेश के ऊपर अब टिड्डी दल ने हमला बोला है. टिड्डियों के हमले से सबसे ज्यादा परेशान किसान हैं. मध्य प्रदेश के मालवा-निमाड़ से लेकर बुंदेलखंड तक के इलाकों में टिड्डियों ने जमकर उत्पात मचाया है. दरअसल टिड्डियों के दल से फसलों को काफी नुकसान पहुंचता है क्योंकि ये लाखों की संख्या में हमला करते हैं.

locusts-attack

टिड्डी दल ने मध्य प्रदेश के सैंकड़ों किसानों की फसल को बुरी तरह चौपट किया है. टिड्डी दल खेतों में खड़ी मक्का की फसलों को चौपट कर रहे हैं. मध्य प्रदेश में इन दिनों किसान बड़ी संख्या में थाली बजाकर टिड्डी दल को भगाते देखे जा सकते हैं.

  प्रधानमंत्री मोदी ने गुरु पूर्णिमा पर देशवासियों को बधाई दी

किसानों के साथ-साथ प्रशासन भी पूरी ताकत से टिड्डियों के हमले को नाकाम करने में जुटा हुआ है. दरअसल, टिड्डियों का दल राजस्थान की सीमा से मध्य प्रदेश में दाखिल हुआ और सबसे पहले मालवा क्षेत्र में कहर बरपाया. जानें किन इलाकों में कैसे बरपाया कहर.

-टिड्डियों के दल ने सबसे पहले नीमच, आगर-मालवा, उज्जैन और धार में हमला किया
-इसके बाद निमाड़ के हरदा, खरगोन, खंडवा में हमला किया
-वहीं बुंदेलखंड के दतिया, निवाड़ी, छतरपुर और पन्‍ना में भी टिड्डी दल से कुछ जगहों पर नुकसान हुआ है
-इसके अलावा सीहोर, रायसेन और शिवपुरी से भी टिड्डी दल के हमलों की खबरें आई है

  जापान में भारी वर्षा और बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, अब तक 14 लोगों की मौत

मध्य प्रदेश में अगले कुछ महीनों में उपचुनाव होने हैं. लिहाजा कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाया है. पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने शिवराज सरकार पर टिड्डी दल के हमले को लेकर तैयारियों को समय पर न करने का आरोप लगाया है. जीतू पटवारी ने कहा कि सरकार का पूरा ध्यान उपचुनाव पर अभी से है, इसलिए कोरोना और टिड्डी दल को काबू में करने में सरकार विफल साबित हुई है.

प्रभावित किसानों को देंगे मुआवजा: कृषि मंत्री

  मुख्यमंत्री पहुंचे राष्ट्रपति से मुलाकात करने

बड़े पैमाने पर टिड्डियों द्वारा हमले के बाद खुद कृषि मंत्री को मैदान में उतरना पड़ा. कृषि मंत्री कमल पटेल ने हरदा जिले में दौरा किया और कहा कि टिड्डी दल के प्रकोप के कारण किसानों को होने वाले नुकसान का सर्वेक्षण कराया जाएगा. सर्वेक्षण का कार्य राजस्व विभाग और कृषि विभाग के अमले का संयुक्त दल बनाकर कराया जाएगा.

उन्होंने बताया कि जिन किसानों को अधिक मात्रा में नुकसान हुआ है, उन्हें आरबीसी 6 (4) के अंतर्गत मुआवजा देकर क्षतिपूर्ति की जाएगी. सरकार ने फिलहाल सभी जिला प्रशासन को सतर्क रहने और ज्यादा से ज्यादा बचाव दलों को अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है ताकि पहले से ही लॉकडाउन की मार झेल रहे किसानों की मेहनत टिड्डियां न चट कर जाएं.


Check Also

कैबिनेट की बैठक कल, विभागों पर मारामारी

आप यहां हैं :Home » राष्ट्रीय » कैबिनेट की बैठक कल, विभागों पर मारामारी भोपाल …