मारुति को 17 साल बाद 268.3 करोड़ का घाटा


नई दिल्ली (New Delhi). मारुति सुजुकी इंडिया को 17 साल बाद किसी तिमाही में पहली बार घाटा हुआ है. कंपनी को 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में 268.3 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है. यह जुलाई, 2003 में कंपनी के सूचीबद्ध होने के बाद पहला ऐसा मौका है. 2019-20 की जून तिमाही में मारुति को कुल 1,376.8 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था.

  कोरोना खत्म होते ही ऐसा कार्यक्रम बनाया जाएगा जिससे हर जिले के लोग आ सकें : योगी

कंपनी ने बुधवार (Wednesday) को कहा कि जून तिमाही में उसकी शुद्ध बिक्री 3,679 करोड़ रुपए रही, जो पिछले साल की समान तिमाही में 18,738.8 करोड़ रुपए रही थी. इस दौरान उसने कुल 76,599 वाहन बेचे हैं. इसमें 67,027 वाहन घरेलू बाजार में और 9,572 वाहन विदेशी बाजार में बेचे. 2019-20 की समान तिमाही में मारुति ने कुल 4,02,594 वाहन बेचे थे. मारुति ने कहा, कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) के कारण कंपनी के इतिहास में यह अप्रत्याशित तिमाही रही.

  दिग्विजय की मानसिक हालत ठीक नहीं, उन्हें ट्रीटमेंट की जरूरत: साक्षी महाराज

लॉकडाउन (Lockdown) के कारण इस तिमाही के बड़े हिस्से में कंपनी के कारखानों में न तो कोई उत्पादन हुआ और न ही बिक्री हुई. मई में मामूली उत्पादन के साथ बिक्री शुरू हुई. कंपनी ने कहा, उसकी पहली प्राथमिकता कर्मचारियों, ग्राहकों सहित पूरी मूल्य श्रृंखला में उसके सहयोगियों की स्वास्थ्य, सुरक्षा और बेहतरी है. पूरी सावधानी से तैयार सुरक्षा नवाचार के साथ शुरू हुआ उत्पादन कार्य पूरी तिमाही में मुश्किल से नियमित कामकाज के दो सप्ताह के ही बराबर हो सका.

  असंतुष्ट विधायकों के यहां काम ज्यादा हो रहे थे : अशोक गहलोत

Check Also

एचडीएफसी बैंक के नए एमडी एवं सीईओ होंगे शशिधर जगदीशन

उदयपुर (Udaipur). रिज़र्व बैंक (Bank) ऑफ  इंडिया ने एचडीएफसी बैंक (Bank) के मैनेजिंग डायरेक्टर एवं …