भाजपा से मुकाबले को मायावती ने उतारी वरिष्ठ नेताओं की सेना

नई दिल्ली (New Delhi). वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव से यूपी की सत्ता से बाहर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारियों में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं. वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में महज 19 सीटों पर सिमट जाने वाली बसपा को यूपी में दोबारा खड़ा करने की मंशा लेकर मायावती आधा दर्जन से अधिक बार संगठन को बदल चुकी हैं. अब जबकि अगला विधानसभा चुनाव के लिए डेढ़ वर्ष का समय रह गया है मायावती ने नए सिरे से बसपा संगठन को तैयार करना शुरू किया है.
बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने 5 और 6 जुलाई को दिल्ली में गुरुद्वारा रोड पर मौजूद पार्टी के राष्ट्रीय कार्यालय में मौजूद रहकर यूपी के सभी मंडलों के कुछ चुनिंदा नेताओं के साथ अलग-अलग बैठक कर संगठन के बारे में फीडबैक लिया. बैठक के समाप्त होने के बाद मायावती ने बसपा के राष्ट्रीय महामंत्रियों के साथ बैठक कर यूपी में पार्टी के संगठन को नया रूप दिया. मायावती ने कई मंडलों पर सेक्टर प्रभारियों की व्यवस्था समाप्त कर मंडल स्तर पर मुख्य सेक्टर प्रभारियों की तैनाती की है. इसके अलावा मंडलों को दो हिस्सों में बांट कर उनमें अलग अलग सेक्टर प्रभारी और जिला स्तर पर भी सेक्टर प्रभारी तैनात किए हैं.

  सैमसंग इंडिया ने लॉन्च की ‘एक्सपीरियंस सैमसंग ऐट होम’ सेवा; गैलेक्सी उपभोक्ताओं को घर बैठे मिल सकेगी डेमो और डिलीवरी की सुविधा

खास बात यह है कि कई वर्षों से उपेक्षित पड़े वरिष्ठ नेता जो दूसरे प्रदेशों के प्रभारी के रूप में काम कर रहे थे उन्हें फिर से मंडलों में बसपा की संगठनात्मक जिम्मेदारी दी गई है. लखनऊ (Lucknow) मंडल के लिए बसपा विधानमंडल दल के नेता लालजी वर्मा, एमएलसी भीमराव आंबेडकर, शमशुद्दीन राइन और राजकुमार गौतम को मुख्य सेक्टर प्रभारी बनाया गया है. ये सभी मुख्य सेक्टर प्रभारी मंडल की सभी संगठनात्मक गतिविधियों पर नजर रखते हुए बसपा की मजबूती के लिए काम करेंगे. इनकी सहायता के लिए लखनऊ (Lucknow) मंडल में तीन-तीन जिलों पर अलग-अलग दो टीम होंगी. पहली टीम में लखनऊ (Lucknow), उन्नाव और रायबरेली शामिल हैं. इन तीन जिलों में महेंद्र सिंह जाटव, विनय कश्यप और सलाहुद्दीन सिद्दीकी को सेक्टर प्रभारी के रूप में तैनात किया गया है. इसी तरह हरदोई, लखीमपुर खीरी और सीतापुर के दूसरी टीम बनाई गई है. इस टीम में डाक्टर विनोद भारती, रणधीर बहादुर और अखिलेश आंबेडकर सेक्टर प्रभारी बनाए गए हैं. पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रामअचल राजभर को प्रयागराज (Prayagraj)मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है. इन सभी नेताओं को बूथ पर बसपा के संगठन को मजबूत करने के साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार (Government) की नीतियों के खिलाफ लोगों को जागरूक करने का निर्देश दिया है. बसपा के एक राष्ट्रीय महामंत्री बताते हैं कि मायावती ने सभी सेक्टर प्रभारियों को गांव में रात गुजारकर दलितों, पिछड़ों के साथ संवाद बनाकर उन्हें भाजपा सरकार (Government) की गलत नीतियों की जानकारी देने और उनसे बसपा के बारे में फीडबैक लेने का निर्देश दिया है ताकि पार्टी अपनी अगली रणनीति तय कर सके.

  मुख्यमंत्री ने किया अपने निवास पर झंडावंदन

Check Also

राष्ट्र के लिए जिएंगे, राष्ट्र के लिए मरेंगे

स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री ने झंडावंदन कर सलामी ली भोपाल . मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान …