कोरोना के चलते मिशन गगनयान में एक साल का विलंब


बेंगलुरु (Bangalore) . कोविड-19 (Covid-19) वैश्विक महामारी (Epidemic) का असर हर क्षेत्र में हुआ है. इससे वैज्ञानिक गतिविधियां भी प्रभावित हुई है. कोरोना के कारण भारत के पहले मानव मिशन गगनयान पर भी हो रहा है. भारत के इस मानव मिशन पर कोरोना के कारण एक वर्ष का विलंब हो रहा है. इसके बावजूद भारत ने दो अन्य मानव रहित स्पेसक्रॉफ्ट पर काम करना शुरू कर दिया है.

  केरल में कोरोना वायरस के 23,676 नए मामले आए 148 और मौतें हुईं

इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (इसरो) प्रमुख डॉ. के सिवन ने कहा कि कोरोना महामारी (Epidemic) के कारण मानव मिशन की लांचिंग में एक साल की देरी होगी. यह अगले साल के अंत तक या उसके एक साल बाद होने की उम्मीद है. लेकिन, इससे पहले दो मानव रहित स्पेसक्रॉफ्ट भेजने पर काम शुरू किया गया है. सिवन ने कहा कि इसरो ने चंद्रयान-3 मिशन पर भी काम शुरू कर दिया है. इसके लिए लैंडर और रोवर तैयार करने का काम किया जा रहा है. शुक्र ग्रह पर भेजे जाने वाले शुक्रयान मिशन की तैयारियां चल रही हैं. हालांकि, इनके भेजने की अभी तक तिथियां घोषित नहीं की गई है.

  9 अगस्त को किसानों के खाते में आएगी 2000 रुपये की 9वीं किस्त

बता दें कि इसरो की दिसंबर, 2021 में गगनयान मिशन भेजने की तैयारी थी, जबकि मानव रहित मिशन के लिए दिसंबर, 2020 और जुलाई, 2021 का समय तय किया था. कोरोना काल के कारण इनकी लांचिंग में भी देरी की संभावना है. गगनयान मिशन के लिए सरकार ने 10 हजार करोड़ रुपए का बजट बनाया है. इसकी घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने पहले ही कर दी थी.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *