मॉनसून 2020: सम्पूर्ण भारत का 1 जुलाई का मॉनसून पूर्वानुमान

मॉनसून की अक्षीय रेखा पश्चिमी भागों में अभी भी तराई क्षेत्रों में है जबकि पूरब में यह दक्षिणी की तरफ बढ़ते हुए बंगाल की खाड़ी में आ गई है. 30 जून को यह फ़िरोज़पुर, कैथल, दिल्ली, हमीरपुर, डाल्टनगंज, जमशेदपुर (Jamshedpur), दिघा पर थी. इस ट्रफ के पश्चिमी में मध्य पाकिस्तान पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र है तो पूरब में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पूर्वी भागों पर एक चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है.

अरब सागर के दक्षिण-पूर्वी हिस्सों पर केरल के तटों के पास भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. साथ ही कर्नाटक (Karnataka) से केरल के तटों तक एक ट्रफ सक्रिय है. मध्य महाराष्ट्र (Maharashtra) और इससे सटे भागों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दिखाई दे रहा है. जबकि पूर्वी बिहार (Bihar)से तटीय ओडिशा तक एक ट्रफ बना हुआ है.

  प्रदेश के अन्य चिकित्सा संस्थानों में भी शुरू हो प्लाज्मा थैरेपी : मुख्यमंत्री

देश में पिछले 24 घंटों में कैसा रहा मॉनसून का प्रदर्शन

बीते 24 घंटों के दौरान मॉनसून की सबसे अधिक सक्रियता केरल, तटीय कर्नाटक (Karnataka), कोंकण और गोवा, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र (Maharashtra) और ओडिशा में देखने को मिली. इन भागों में कई जगहों पर मॉनसून वर्षा दर्ज की गई.इसके अलावा आंध्र प्रदेश, अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह, पूर्वी मध्य प्रदेश, असम के कुछ हिस्सों और साथ ही पूर्वी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में मॉनसून का सामान्य प्रदर्शन जारी रहा. इन भागों में हल्की से मध्यम बारिश हुई. पंजाब, हरियाणा (Haryana), हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh), उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के शेष हिस्सों, मध्य प्रदेश के पश्चिमी और मध्य भागों, तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, आंतरिक कर्नाटक (Karnataka), लक्षद्वीप और गुजरात क्षेत्र में भी मॉनसून की सक्रियता देखने को मिली. राजस्थान (Rajasthan) में मॉनसून की सुस्ती जारी रही.

  विकास दुबे का कड़ी सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार, दो गोली सीने व एक कमर में थी लगी

अगले 24 घंटों के दौरान मॉनसून के प्रदर्शन की संभावना

अगले 24 घंटों के दौरान गुजरात के पूर्वी क्षेत्रों, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक (Karnataka), केरल और असम के कुछ हिस्सों में मॉनसून सक्रिय रहेगा और हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश होगी. मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंतरिक महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंतरिक कर्नाटक (Karnataka), तटीय आंध्र प्रदेश, अंडमान व निकोबार, बिहार, झारखंड, ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पूर्वी और मध्य भागों, उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों, उत्तरी और मध्य राजस्थान (Rajasthan) में कुछ स्थानों पर मॉनसून की हलचल बढ़ सकती है. इन भागों में कुछ स्थानों पर बारिश के आसार हैं.

  क्राइम ब्रांच ने गैंगस्टर अनवर ठाकुर को दबोचा

पंजाब (Punjab) और हरियाणा (Haryana) में मॉनसून कमजोर रहेगा हालांकि एक-दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बौछारें गिर सकती हैं. तमिलनाडु और लक्षद्वीप में कमजोर मॉनसून के बीच हल्की बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है. दिल्ली में भी गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं. जबकि पश्चिमी राजस्थान (Rajasthan) में मॉनसून कमजोर बना रहेगा. इन भागों में मौसम शुष्क और काफी गर्म रहेगा.

साभार: skymetweather.com 

Check Also

हैदराबाद में ऑक्सीजन सिलेंडर ब्लैक करने वाला गिरफ्तार, जमाखोर के घर से 24 ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद

हैदराबाद देश के लोग और सरकार (Government) कोरोना से जूझ रहे हैं वहीं कई लोग …