वसुंधरा और सतीश पूनिया गुट के बीच कलह से खफा नजर आए नड्डा


नेताओं को नसीहत, आत्मविश्लेषण करें कि पार्टी के लिए कितना योगदान दे रहे हैं

जयपुर (jaipur) . बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राजस्थान (Rajasthan)में बीजेपी नेताओं की गुटबाजी और कलह पर कड़ा प्रहार करते हुए राजस्थान (Rajasthan)बीजेपी के नेताओं को नसीहत दी कि आत्मविश्लेषण करें कि पार्टी के लिए कितना योगदान दे रहे हैं. नड्डा ने बिना नाम लिए वसुंधरा राजे समेत नाराज नेताओ पर तंज कसा कि अकेले चलने से कुछ नहीं होगा, पार्टी के साथ चलें. वहीं बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया को भी बिना नाम लिए नसीहत दे दी कि नेता वही है जो सभी को साथ लेकर चले. नड्डा ने कहा सभी एकजुटता दिखाएं और पार्टी को मजबूत करने का काम करें. नड्डा ने राजस्थान (Rajasthan)बीजेपी के नेताओं टास्क और तारीख दे दी.

  सैमसंग एसी के 2021 रेंज के साथ लीजिए ठंडी और ताज़ी हवा का मज़ा

नड्डा ने कहा 25 सितंबर तक सभी बूथ का गठन हो जाना चाहिए. 25 दिसंबर तक हर बूथ पर हमें सक्रिय पन्ना प्रमुख बनाना है. नड्डा ने प्रदेश कार्यसमिति को संबोधित करते हुए किसी नेता का नाम नहीं लिया, लेकिन राजस्थान (Rajasthan)में नेताओं की गुटबाजी खासकर वसुंधरा राजे गुट और सतीश पूनिया गुट के बीच कलह से खफा नजर आए. नड्डा ने इशारों में दोनों गुटों को साफ संदेश दे दिया कि पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करें, गुटबाजी और शक्ति-प्रदर्शन बंद करें. नड्डा ने पूरे भाषण में निशाना साधते हुए न वसुंधरा राजे का नाम लिया न सतीश पूनिया का.

  सागर कलेक्टर होम क्वारंटाइन, पिता व बेटा कोरोना पॉजिटिव

नेता कार्यकर्ताओं के अधिकार कर्तव्य का हवाला देकर नसीहत दी. राजस्थान (Rajasthan)बीजेपी में कलह और नेताओं के टकराव को लेकर बेहद खफा दिखे इसलिए सबसे पहले नेताओं को आत्मविश्लेषण की नसीहत दी. उन्होंने प्रदेश कार्यसमिति में सार्वजनिक संदेश देने के बाद राजस्थान (Rajasthan)बीजेपी के कोर ग्रुप के साथ अलग से बैठक ली. इस बैठक मे वसुंधरा राजे सतीश पूनिया गजेंद्र सिंह शेखावत समेत राजस्थान (Rajasthan)सभी प्रमुख नेता शामिल थे. इस बैठक में भी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि एकजुटता दिखाएं और मिलकर काम करें.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *