नासा के अध्ययन से हुआ खुलासा : हर दस साल में पूरी तरह बदल जाता है सूर्य का चुंबकीय क्षेत्र


वाशिंगटन. बीते दस साल में सूर्य में काफी बदलाव आया है. नासा ने इसको लेकर करीब एक दशक से अध्ययन कर रहा है. इस दौरान करीब सूरज की 42.5 करोड़ तस्वीरें ली गईं हैं. साथ ही दो करोड़ जीगाबाइट के करीब डाटा भी इकट्ठा किया गया. इन तमाम जानकारियों के आधार पर नासा ने अध्ययन किया. इस अध्ययन से यह बात सामने आई है कि बीते दस साल में सूरज काफी बदल गया है. नासा के सोलर डायनामिक्स आब्जर्वेटरी ने बीते दस वर्षों में हर 0.75 सेकेंट पर सूर्य की तस्वीर ली है. एटमास्फियरिक इमेजिंग असेंबली (एआईए) ने दस विभिन्न प्रकाश की तरंग दैर्ध्य पर प्रत्येक 12 सेकेंड में एक तस्वीर ली है. हर घंटे एक तस्वीर को संकलित करते हुए, 61 मिनट का वीडियो तैयार किया गया है.

  मंत्रि-परिषद की दूसरी वर्चुअल बैठक में कई फैसले

नासा ने कहा कि सूरज बहुत बदल गया है. वीडियो में यह भी दर्शाने की कोशिश की गई है कि यह सौर मंडल को कैसे प्रभावित करता है. नासा के अनुसार, सूर्य का चुंबकीय क्षेत्र हर 10 साल बाद पूरी तरह से बदल जाता है. वीडियो सूर्य के 11 साल के सौर चक्र के हिस्से के रूप में होने वाली गतिविधियों में वृद्धि और गिरावट को दर्शाता है, जो ग्रहों और विस्फोटों को पार करने जैसे उल्लेखनीय घटनाओं को दर्शाता है.

  यूपी में कोरोना संक्रमित रोगियों का आंकड़ा 97 हजार के पार पहुंचा

सोलर ऑब्जर्वर शीर्षक वाला कस्टम संगीत संगीतकार लार्स लियोनहार्ड ने बनाया था. एसडीओ ने सूर्य पर लगातार नजर बनाए रखा, कम ही ऐसे पल आए होंगे जहां चूक हुई हो. वीडियो में काले फ्रेम पृथ्वी या चंद्रमा के ग्रहण एसडीओ के कारण होते हैं क्योंकि वे अंतरिक्ष यान और सूर्य के बीच से गुजरते हैं. 2016 में लंबे समय तक ब्लैकआउट एआईए उपकरण के साथ एक अस्थायी मुद्दे के कारण हुआ था जिसे एक सप्ताह के बाद सफलतापूर्वक हल किया गया था. जब एसडीओ अपने उपकरणों को कैलिब्रेट कर रहे थे, तब सूर्य जहां ऑफ-सेंटर हैं, वहां की छवियां देखी गईं.

  मेवाड़ी जाबांज ने फहराया था अयोध्या में पहला भगवा

Check Also

Gujarat Hospital Fire : अहमदाबाद के कोविड अस्पताल में आग, 8 कोरोना मरीजों की मौत

गुजरात के अहमदाबाद (Ahmedabad) के नवरंगपुरा में गुरुवार (Thursday) तड़के एक कोविड डेडिकेटेड अस्पताल के …