एनसीईआरटी ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप पाठ्य प्रवेशिका एवं मार्गदर्शिका तैयार की

नई दिल्ली (New Delhi) . राष्ट्रीय शिक्षा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप प्रौढ़ शिक्षा अभियान के शिक्षार्थियों के लिए भाषा और गणित को शामिल करते हुए 13 विषयों (थीम) पर पाठ्य प्रवेशिका एवं मार्गदर्शिका तैयार की है. एनसीईआरटी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, प्रौढ़ शिक्षा अभियान के तहत वयस्क शिक्षार्थियों के लिए चार प्रवेशिकाएं तैयार की गई हैं. ये प्रवेशिकाएं समेकित रूप से बनी हैं जिसमें भाषा और गणित दोनों शामिल हैं. विषय सामग्री के रूप में 13 विषय तय किए हैं.

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने वर्ष 2030 तक शत-प्रतिशत साक्षरता हासिल करने का लक्ष्य निर्धारित किया है. नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भी प्रौढ़ शिक्षा को लेकर कई सुझाव दिए गए हैं. इसके बाद एनसीईआरटी ने ‘उड़ान शिक्षा की’ नाम से प्रौढ़ शिक्षा मार्गदर्शिका और चार प्रवेशिकाएं तैयार की हैं. इन प्रवेशिकाओं में परिवार एवं पड़ोस, बातचीत, पर्यावरण, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता, कानूनी साक्षरता, आपदा प्रबंधन, डिजिटल साक्षरता आदि शामिल हैं. भाषा खंड के तहत इन्हीं विषयों से जुड़ी रोचक सामग्री को शामिल करते हुए हिन्दी भाषा और अंकगणित को पढ़ना लिखना सुगम बनाया गया है.

अधिकारी ने बताया, वयस्क शिक्षार्थियों को पढ़ने लिखने और अंक गणित सीखने में मदद के लिए एक निर्देशिका तैयार की गई है. शिक्षार्थियों की स्थानीय जरूरतों और अपेक्षाओं को ध्यान में रखकर इसमें आवश्यक्ता अनुसार बदलाव हो सकते हैं. शिक्षार्थियों को चित्र, पोस्टर या आसपास की घटनाओं के द्वारा सीखने को प्रेरित करने पर जोर दिया गया है. इसमें उदाहरण के तौर पर कहा गया है कि स्वयंसेवक मतदान का उल्लेख करते हुए शिक्षार्थियों को बताएं कि आप एक वोटर हैं और आपको मतदान क्यों करना चाहिए. वोट देने की तैयारी, वोट देने के तरीके और वोटर कार्ड के प्रयोग के बारे में भी जानकारी देने पर भी जोर दिया गया है. आपदा प्रबंधन के संबंध में शिक्षार्थियों को आपदा के बारे में चित्र और पोस्टर प्रस्तुत करने तथा उनसे दिखाए गए चित्र से संबंधित आपदा एवं इनके अनुभव (अगर कोई है) के बारे में पूछने को कहा गया है. आपदा आने पर संकट के समय कहां सम्पर्क कर सकते हैं, इसके बारे में बताने को कहा गया है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *