Tuesday , 26 January 2021

नेपाली कार्यवाहक पीएम ओली को दोहरा एजेंडा, नए नक्शे पर बातचीत के लिए मंत्री ग्यावली को भेज रहे दिल्ली

काठमांडू . नेपाल में छिड़ी राजनीतिक जंग के बीच यहां के कार्यवाहक प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली दोहरा सियासी एजेंडा चला रखा हैं. एक तरफ वह सीमा विवाद के मुद्दे पर भारत के खिलाफ कसमें खा रहे हैं. वहीं, दूसरी तरफ नेपाल के नए नक्शे पर बातचीत के लिए विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली को भारत भेज रहे हैं. ओली ने कहा है कि ग्यावली 14 जनवरी को भारत पहुंचेंगे. इस दौरान वे नेपाल के नए मानचित्र सहित विभिन्न मुद्दों पर भारत के साथ बातचीत करेंगे. नेपाली जनता को रिझाने के लिए पीएम ओली दो तरह की राजनीति को एक साथ कर रहे हैं. रविवार (Sunday) को ही उन्होंने नेशनल असेंबली की मीटिंग में भारत से कालापानी, लिंपियाधुरा और लिपुलेख का कब्जा अपने हाथ में लेने की प्रतिज्ञा दोहराई. खबर के मुताबिक ओली ने दावा किया है कि सुगौली समझौते के मुताबिक महाकाली नदी के पूर्व पर स्थित ये तीनों क्षेत्र नेपाल के हैं. उन्होंने कहा है कि भारत से कूटनीतिक बातचीत के जरिए इन्हें वापस लिया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि 1962 में भारत-चीन युद्ध के बाद से भारतीय सेना जहां तैनात हुई, नेपाल के शासकों ने कभी उन क्षेत्रों को हासिल करने की कोशिश नहीं की है.

  वास्थय बजट में बड़ी बढ़ोतरी कर सकती है सरकार

माना जा रहा है कि प्रदीप कुमार ग्यावली की भारत यात्रा से दोनों देशों के रिश्तों पर जमी बर्फ भी पिघलेगी. मई-जून में नेपाल के नए नक्शे के बाद दोनों देशों में तनाव चरम पर पहुंच गया था. जिसके बाद कोरोना काल में नेपाल ने भारत से लगी अपनी सीमा को भी बंद कर दिया था. जिसके बाद से नेपाल के भारत विरोधी रुख के कारण दोनों देशों के संबंध लगातार खराब चल रहे थे. हाल में ही भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के चीफ सामंत कुमार गोयल ने काठमांडू में नेपाली पीएम ओली से अकेले में मुलाकात की थी. जिसके बाद भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे तीन दिवसीय यात्रा पर काठमांडू पहुंचे थे. इस दौरान उन्हें नेपाली राष्ट्रपति ने सम्मानित भी किया था. नरवणे के दौरे के बाद भारतीय विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला भी नेपाल यात्रा पर गए थे. जिसके बाद से दोनों देशों के बीच संबंध सामान्य होने की उम्मीद जताई जा रही थी.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *