Tuesday , 26 January 2021

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन ने भारत की बढ़ाई चिंता, 90 संक्रमित मिले, अब वैक्सीन से उम्मीद

नई दिल्ली (New Delhi) . पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रही महामारी (Epidemic) कोरोना (Corona virus) के नए स्वरूप को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं. अब ब्रिटेन में मिले कोरोना (Corona virus) के नए स्ट्रेन के मामले भारत में भी बढ़ रहे हैं. देश में कोरोना के नए वैरिएंट के 90 लोग शिकार हो चुके हैं. शनिवार (Saturday) को स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है. वहीं, भारत ने बढ़ते मामलों के बीच ब्रिटेन और भारत की हवाई सेवा को फिर से शुरू कर दिया है.

पाबंदी हटाए जाने के बाद पहली बार शुक्रवार (Friday) को ब्रिटेन से पहली एयर इंडिया की फ्लाइट 246 यात्रियों (Passengers) को लेकर भारत पहुंची थी. ब्रिटेन में भी वायरस के नए स्ट्रेन के चलते मामलों में काफी तेजी से इजाफा हो रहा है. लंदन में शुक्रवार (Friday) को मेयर सादिक खान ने कहा कि ब्रिटेन की राजधानी संकट के बिंदु पर है. इस दौरान उन्होंने कोविड-19 (Covid-19) के मरीजों के लिए बिस्तरों की कमी की ओर भी इशारा किया है. सादिक ने कहा कि आने वाले कुछ हफ्तों में कोविड मरीजों के लिए बिस्तर कम पड़ जाएंगे. इसकी व्यवस्था करने के लिए तत्काल कदम उठाना होगा.

  स्वास्थ्य क्षेत्र में ब्राजील का सहयोग मजबूत बनाना जारी रखेंगे: मोदी

हालांकि, बीते कुछ दिनों में रोज मिल रहे आंकड़ों के लिहाज से भारत में कोरोना (Corona virus) का असर कुछ कम होता नजर आ रहा है. बीते 24 घंटों में भारत में 18 हजार 222 नए मामले सामने आए हैं. इन्हें मिलाकर देश में कोरोना (Corona virus) केस की संख्या 1 करोड़ 4 लाख 31 हजार 639 पर पहुंच गई है. इस महामारी (Epidemic) के चलते अब तक 1 लाख 50 हजार 798 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं. फिलहाल देश में 2 लाख 24 हजार 190 एक्टिव मामले हैं.

  रुपेश के बाद कृषि पदाधिकारी की हत्या से दहाला बिहार, नीतिश सरकार पर विपक्षियों का वार

कोरोना (Corona virus) के खिलाफ वैक्सीन को लेकर भी भारत काफी मजबूत स्थिति में नजर आ रहा है. सरकार ने शुक्रवार (Friday) को पूरे देश में तीसरे दौर का वैक्सीन ड्राई रन किया. बीते रविवार (Sunday) को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने दो वैक्सीन- ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजैनेका की कोविशील्ड, भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को अनुमति दे दी है. डीसीजीआई ने आपातकालीन स्थिति में पाबंदियों के वैक्सीन के इस्तेमाल के लिए इजाजत दी है. कोविशील्ड का निर्माण पुणे (Pune) स्थित दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट में किया जा रहा है. वहीं, इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन हैदराबाद में तैयार हो रही है.

  गुजरात में 410 नए केस, 704 स्वस्थ हुए, 1 मरीज की कोरोना से मौत

 

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *