ओली के खिलाफ आएगा अविश्वास प्रस्ताव


काठमांडू . नेपाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रकाश मान सिंह के मुताबिक, पार्टी की सेंट्रल कमेटी ने शनिवार (Saturday) को हुई मीटिंग में अपने नेतृत्व में एक नई सरकार बनाने की पहल करने का फैसला किया है. इसके लिए पुष्प कमल दहल प्रचंड की पार्टी सीपीएन-माओवादी सेंट्रल समेत अन्य दलों का समर्थन लिया जाएगा. साथ ही प्रधानमंत्री ने अगर अपने पद से इस्तीफा नहीं दिया तो उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा.

  कोरोना टीके में मिलावट कर इसकी ताकत बढ़ाएगा चीन

उन्हें संसद में एक बार फिर से बहुमत साबित करना होगा. सिंह ने आगे बताया कि कई लोगों ने विभिन्न आंदोलनों के जरिए देश में गणतंत्र की स्थापना की. ओली अपनी मनमानी से इसे संविधान और लोकतंत्र को खतरे में डालना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि मुख्य विपक्षी दल और 2015 में नेपाल के संविधान को बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण साझेदार होने के नाते लोकतंत्र की रक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है. पार्टी के सूत्रों के मुताबिक, पीएमएन-माओवादी केंद्र ने पुष्प कमल दहल प्रचंड के समर्थन से अपना समर्थन वापस ले लिया तो प्रधानमंत्री केपी ओली के नेतृत्व वाली सरकार निचले सदन में बहुमत खो देगी.

  कोरोना टीके में मिलावट कर इसकी ताकत बढ़ाएगा चीन

शनिवार (Saturday) को प्रचंड ने कहा कि नेपाली कांग्रेस के पीएम ओली का इस्तीफा लेने और अपने नेतृत्व में अगली सरकार बनाने की पहल करने का फैसला करने के बाद देश की राजनीति ने एक नया मोड़ ले लिया है. मैं राजनीतिक दलों के साथ बातचीत तेज करने जा रहा हूं और उम्मीद है कि जल्द ही नेपाल में नई सरकार बनेगी. बता दें कि साल 2017 के आम चुनाव में ओली और प्रचंड की पार्टी के गठबंधन की जीत के बाद 2018 में दोनों पार्टियों ने विलय कर नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी बनाई थी.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *