Thursday , 21 October 2021

नोबेल विजेता कैलाश सत्यार्थी बनाए गए संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्य के एडवोकेट

जिनेवा . भारत के लिए बड़े गौरव क्षण है बंधुआ बच्चों के लिए काम करने वाले नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित भारत के नागरिक कैलाश सत्यार्थी को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतेरस ने महासभा की 76वीं बैठक से पहले सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) का पैरोकार नियुक्त किया है. गुतेरस ने सत्यार्थी, स्टेम कार्यकर्ता वैलेंटिना राबानल, माइक्रोसाफ्ट के अध्यक्ष ब्रैड स्मिथ और के-पॉप सुपरस्टार बलैक पिंक को नया एसडीजी पैरोकार नियुक्त किया है. गुतेरस ने कहा कि हम अहम मोड़ पर हैं. हम अभी जो चयन करेंगे वे हमें या तो भावी संकट की ओर धकेल सकते हैं या फिर हरे–भरे और सुरक्षित विश्व की ओर ले जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि एसडीजी पैरोकार नए लक्ष्यों की ओर बढ़ने लिए अभी से कदम उठाने के लिए अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हैं और लोगों और विश्व के लिए सतत विकास लक्ष्यों के वादे को पूरा करते हैं.

  नई सियासी पिच पर बैटिंग करेंगे अमरिंदर, बनाएंगे नई पार्टी, कहा भाजपा के साथ गठबंधन से परहेज नहीं

नियुक्ति पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कैलाश सत्यार्थी ने इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी के लिए संयुक्त राष्ट्र प्रमुख को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि आज हमें बच्चों के सामने आने वाले संकट की गंभीरता की पहचान की जरूरत है. हमने दो दशकों में बाल श्रम में पहली वृद्धि देखी गई है. इससे पहले कोरोना महामारी (Epidemic) ने इसको लेकर चेतावनी के संकेत दिए थे. हम 2030 के वादों पर विफल होने के खतरे का सामना कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि महामारी (Epidemic) के बाद की रिकवरी न्यायपूर्ण, समावेशी और टिकाऊ तभी हो सकती है जब हम दुनिया के सबसे हाशिए पर रहने वाले और पीछे छूटे बच्चों को प्राथमिकता दें. मैं विनम्रतापूर्वक इस नियुक्ति को सबसे अदृश्य बच्चों की आवाज को आगे लाने की जिम्मेदारी के साथ स्वीकार करता हूं. संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि जलवायु परिवर्तन, डिजिटल विभाजन को पाटना, लैंगिक समानता और बच्चों के अधिकारों को बढ़ावा देना नए एसडीजी अधिवक्ताओं द्वारा किए जाने वाले प्रमुख मुद्दे हैं. भारत के 2014 के नोबेल शांति पुरस्कार विजेता सत्यार्थी दुनिया भर में बच्चों के अधिकारों की रक्षा और उन्हें बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित करेंगे.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *