अब सेना संभालेगी कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण का मोर्चा

भोपाल (Bhopal) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने बताया है कि कोरोना संक्रमण के नियंत्रण और रोगियों की देखभाल में सहयोग करेगी. उन्‍होंने वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने भेंट की और कहा कि देशभर में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में भारतीय सेना भी मोर्चा संभालेगी.

shivraj-army

भेंट करने वालों में सुदर्शन चक्र कोर कमांडर अतुल्य सोलंकी और ब्रिगेडियर आशुतोष शुक्ला शामिल हैं. सैन्य अधिकारियों ने चौहान को बताया कि कोरोना संक्रमित रोगियों को सेना के अस्पतालों और आइसोलेशन केंद्रों में स्थान दिया जाएगा. भोपाल (Bhopal) में लगभग 150, जबलपुर (Jabalpur)में 100, सागर में 40 और ग्वालियर (Gwalior) में 40 आइसोलेशन बेड की व्यवस्था के लिए प्रयास आज से प्रारंभ किए जा रहे हैं.

  तिरुपति में 11 कोरोना मरीजों की दर्दनाक मौत

चौहान ने आज ही केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी सेना से सहयोग के प्राप्त करने के संबंध में चर्चा की और कहा कि आवश्यकता हुई तो सेना द्वारा संचालित इन आइसोलेशन केन्द्रों में मध्यप्रेदश शासन आइसोलेटेड रोगियों के लिए ऑक्सीजन व्यवस्था भी उपलब्ध करवाएगा.

भोपाल (Bhopal) स्थित आइसोलेशन केंद्र के लिए ऑक्सीजन लाइन भी स्थापित की जा सकती है. इससे गंभीर स्थिति होने पर आइसोलेटेड रोगी को आवश्यक उपचार मिल सकेगा. सेना के अधिकारियों ने रोगियों की समुचित देखभाल के लिए पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध कराने के लिए भी आश्वस्त किया.

  ऑक्सीजन परिवहन क्षमता 4 गुणा करेंगी तेल कंपनियां

कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए सेना की ओर से प्रदेश में बिस्तर उपलब्ध करवाने एवं पूर्ण सहयोग के लिए आश्वस्त किया गया. संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए आवश्यक प्रबंध हो जाने से आइसोलेशन रोगियों की देखरेख का कार्य हो सकेगा.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि भारतीय सेना पर हम सभी को गर्व है. संकट के समय में सेना से किए गए अनुरोध का अच्छा रिस्पांस मिला है. यह सच है कि प्रदेश में संक्रमण बढ़ा है. सरकारी प्रयासों का साथ जन- जागरूकता भी बढ़ रही है. 30 अप्रैल तक मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना कर्फ्यू लागू है.

  कोरोना काल में वरदान है चिरंजीवी योजना : प्रत्येक परिवार को पांच लाख का हेल्थ बीमा

News 2021

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *