राम मंदिर के लिए दान देना चाहते हैं NRI,पीएम मोदी से मांगी इजाजत


नई दिल्ली (New Delhi). अयोध्या में राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण की तैयारियां तेज हो गई हैं. दुनिया भर के देशों में राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण को लेकर उत्सुकता है. दुनिया के तमाम देशों में फैले रामभक्त मंदिर निर्माण में अपनी भागीदारी देना चाहते हैं. इसी कड़ी में अमेरिका में भारतीयों का एक प्रमुख संगठन आगे आया है. संगठन ने राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के लिए दान देने की इच्छा जाहिर की है. संगठन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग कि है वे इसकी इजाजत दें ताकि राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के लिए वे दान दे सकें.

  24 घंटों में राज्य की 117 तहसीलों में बारिश, अंकलेश्वर में 5 ईंच

अमेरिकी संस्था जयपुर (jaipur) फुट यूएसए के अध्यक्ष प्रेम भंडारी ने कहा, दुनिया में 3.2 करोड़ के आसपास एनआरआई (अनिवासी भारतीय) और पीआईओ (भारतीय मूल के लोग) हैं,इसमें ज्यादातर राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण में अपना योगदान देना चाहते हैं. प्रेम भंडारी अमेरिका में सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं. भंडारी ने प्रधानमंत्री मोदी से अपील की है कि वे एक सिस्टम बनाएं ताकि जो लोग दान देना चाहते हैं वे 10 डॉलर (Dollar) से लेकर 100 डॉलर (Dollar) के बीच अपना योगदान दे सकें.

  वालमार्ट और ओरेकल के साथ संभावित सौदा नहीं हुआ तो टिकटॉक बंद कर देंगे : ट्रंप

भंडारी ने कहा कि एकत्र की गई राशि श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में सीधा पहुंचा दी जाए. उन्होंने कहा, मैं रामलला का भक्त हूं,इसकारण चाहता हूं कि अयोध्या में जो भव्य मंदिर बन रहा है, उसमें मेरा भी सहयोग हो. कई लोग हैं जो हिंदुस्तान में नहीं रहते लेकिन मंदिर निर्माण में योगदान देना चाहते हैं. कुछ ऐसा प्रावधान होना चाहिए कि एनआरआई चंदे के रूप में दान दे सकें.

  चीन ने नेपाल की जमीन पर जमाया कब्जा

भंडारी ने कहा, ऐसा इसकारण है, क्योंकि पूरी दुनिया में फैले हिंदुओं के लिए यह मंदिर धार्मिक, ऐतिहासिक और सांस्कृति महत्व का प्रतीक है. हिंदुस्तान में कोविड को देखते हुए बनाए गए पीएम केयर्स फंड में उनके संगठन ने एक दिन में 1 करोड़ रुपये (133,949 अमेरिकी डॉलर (Dollar)) की राशि पहुंचाई.

Check Also

पूर्व क्रिकेटर डीन जोंस का मुंबई में निधन

भारत के खिलाफ खेली थी 1986 में 210 रन की पारी मुंबई . डीन जोन्स …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *