नाबालिग बहन से बात करते देखा तो भाइयों ने युवक को उतारा मौत के घाट

चित्तौड़गढ़ . ‎चितौड़गढ़ में जला हुआ शव मिलने के मामले का पु‎लिस ने खुलासा ‎किया है. पु‎लिस ने बताया ‎कि इस युवक की हत्या (Murder) दो भाईयों ने की थी. दरअसल, इन दोनों भाइयों ने युवक को अपनी नाबालिग बहन से बात करते हुये देख लिया था. इस पर उन्होंने युवक की बेहरमी से ‎पिटाई की और बाद में उसे जंगल में ले जाकर जिंदा जला दिया. ‎फिलहाल पुलिस (Police) ने आरोपी भाइयों गिरफ्तार कर लिया है और उनसे पूछताछ कर रही है.

  सम्पूर्ण जिले में सोमवार सुबह 5 बजे तक रहेगा वीकेंड कर्फ्यू, आमजन से सरकार-प्रशासन का सहयोग व कोविड उपयुक्त व्यवहार की पालना करने की अपील

अतिरिक्त पुलिस (Police) अधीक्षक सरिता सिंह ने बताया कि गत 12 दिसंबर को सदर थाना इलाके धनोरा गांव के अलसीगढ के जंगल में एक युवक का जला हुआ शव मिला था. ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस (Police) ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया. युवक की शिनाख्त आवरीमाता निवासी ईशाक मोहम्मद के रूप में हुई. बाद में पुलिस (Police) ने मौके से साक्ष्य एकत्र कर मामले की जांच-पड़ताल शुरू की. गहन पड़ताल के बाद पुलिस (Police) मामले की कड़ी से कड़ी जोड़ते हुये चार दिन के भीतर आरोपियों तक पहुंच गई.

  वीकेंड कफ्र्यू से बाजारों में पसरा सन्नाटा

इसके बाद पुलिस (Police) ने आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने बताया ‎कि मृतक ईशाक एक दिन आरोपियों की नाबालिग बहन से बातचीत कर रहा था. इस दृश्य को नाबालिग लड़की के भाइयों ने देख लिया. इस पर गुस्साये दोनों भाइयों ने ईशाक मोहम्मद के साथ मारपीट कर उसे घायल कर दिया. बाद घायल अवस्था में ही दोनों भाई ईशाक को एक बोरी में डालकर मोटरसाइकिल से अलसीगढ़ के जंगल में ले गये. वहां पेट्रोल (Petrol) डालकर उसे जिंदा जला दिया. ‎‎फिलहाल पु‎लिस अब मामले की आगे की कार्रवाई कर रही है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *