एमपीयूएटी प्रबन्ध मण्ड़ल की ऑनलाइन बैठक का आयोजन

एमपीयूएटी के 15वें दीक्षान्त समारोह मे प्रदान किये जाएगें 712 उपाधियां और 32 स्वर्ण पदक

उदयपुर (Udaipur). महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की प्रबन्ध मण्डल की बैठक का आयोजन ऑनलाइन मोड पर वेबैक्स के माध्यम से किया गया. बैठक के प्रारंभ में कुलसचिव श्रीमति कविता पाठक ने माननीय कुलपति डॉ. नरेन्द्र सिंह राठौड़ एवं प्रबन्ध मण्डल के सभी सदस्यों का स्वागत किया. बैठक में प्रबन्ध मण्डल सदस्य कुन्जी लाल मीणा (आईऐएस), प्रमुख सचिव कृषि एवं उद्यानिकी विभाग, श्रीमति सज्जन देवी कटारा, विष्णु पारीक, जगदीश भण्डारी, डॉ एस. आर. मालू, डा.ॅ आर.सी. तिवारी, डॉ. अजय कुमार शर्मा  एवं डॉ. शन्ति कुमार शर्मा उपस्थित थे. बैठक में विगत 1 दिसम्बर को आयोजित अकादमिक परिषद की 56वीं बैठक में लिए गए निर्णय एवं अनुशंसा रिपोर्ट प्रस्तुत की गई. प्रबन्ध मण्डल की बैठक में मुख्यतः निम्न निर्णय लिए गए.

  धातु मिश्रित मांझा के विक्रय व प्रयोग पर प्रतिबंध

1. विश्वविद्यालय का 15वॉ दीक्षान्त समारोह 24 दिसम्बर 2020 को आयोजित किया जाएगा. इस वर्ष दीक्षान्त समारोह ऑनलाईन मोड पर आयोजित किया जाएगा. माननीय राज्यपाल, राजस्थान (Rajasthan)सरकार एवं कुलाधिपति महोदय दीक्षान्त समारोह की अध्यक्षता करेंगे एवं माननीय कृषि मंत्री लाल चन्द कटारिया विशिष्ट अतिथि रहेंगे. इस दौरान नेशनल रेनफैड़ एरिया अॅथोरिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. अशोक दलवई (आई ऐ एस) दीक्षान्त उद्बोधन देंगे. विश्वविद्यालय परीक्षा नियन्त्रक के प्रस्ताव एवं अकादमिक परिषद के प्रस्ताव पर विश्वविद्यालय के वर्ष 2019-20 ने कृषि, अभियान्त्रिकी, गृह विज्ञान, डेयरी व खाद्य प्रोद्यौगिकी एवं मात्स्यकी संकायो मे उत्तीर्ण 589 स्नातक उपाधियॉ, 80 स्नातकोत्तर एवं 43 पीएचडी की उपाधियॉ प्रदान किये जाने की पुष्टि की गई. इस वर्ष दीक्षान्त समारोह मे स्नातक स्तर पर श्रेष्ठ विद्यार्थियों को 13, स्नातकोत्तर स्तर पर 13 एवं पीएचडी स्तर पर 3 स्वर्ण पदक प्रदान करने की पुष्टि की गई है. इसके अतिरिक्त कृषि संकाय मे 1 कुलाधिपति स्वर्ण पदक, इंजिनियरिंग संकाय मे स्नातक स्तर एवं स्नातकोत्तर स्तर पर 1 – 1 श्रेष्ठ विद्यार्थी को जैन इरीगेशन स्वर्ण पदक प्रदान किया जाएगा. इस प्रकार इस दीक्षान्त समारोह कुल 712 उपाधियां एवं 32 स्वर्ण पदक प्रदान किये जाने की पुष्टि एवं अनुमति प्रदान की गई.

  किरण सोनी गुप्ता पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र के निदेशक का कार्यभार ग्रहण किया

2. माननीय कुलपति ने बताया कि कोविड-19 (Covid-19) व लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान विश्वविद्यालय कर्मचारियों एवं फैकल्टी ने अच्छा कार्य किया है जिसके लिए वे बधाई के पात्र है. उन्होने कहा कि हाल ही में आई.सी.ए.ेआर द्वारा घोषित देश के 74 कृषि विश्वविद्यालयों एंव संस्थनों मे से एमपीयूएटी ने 26वॉ और प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया है. इस दौरान फैकल्टी के उच्चस्तरीय प्रकाशन से विश्वविद्यालय का एच इन्डेक्स 47 रहा. इस दौरान विश्वविद्यालय के राजस्व आय मे भी 45 प्रतिशत की वृद्धि हुई.

  मेवाड़ के कीर्ति पुरुष ‘महाराणा कुम्भा’ की आज 604वीं जयंती

3. कुलपति ने बताया कि माननीय कुलाधिपति की अनुशंसानुसार पर विश्वविद्यालय परिसर मे एक संविधान उद्यान का निर्माण किया गया है जिसका उद्घाटन माननीय राज्यपाल महोदय 24 दिसम्बर को दीक्षान्त समारोह के दौरान करेंगे. रू 8.85 लाख की लागत से लगभग 6000 वर्ग फिट क्षेत्र मे बने इस संविधान उद्यान में विभिन्न स्थम्भों पर ग्रेनाइट पत्थर पर संविधान की प्रस्तावना और संविधान की धारा 51 (क) मे दर्शाऐ गऐ मूल कर्तव्यों को प्रदर्षित किया जाऐगा जिससे विश्वविद्यालय में पढ़ रहे विद्यार्थियों एवं आगंतुकों को संविधान एवं अपने कर्तव्यों की जानकारी एवं उनके प्रति जिम्मेदारी का अहसास होगा. इस उद्यान मे विभिन्न अन्य स्तम्भों पर विश्वविद्यालय के संघटक महाविद्यालयों के शिक्षण कार्यक्रमों, प्रसार एवं अनुसन्धान गतिविधियों, छात्र (student) कल्याण गतिविधियो को भी नयनाभिराम रूप मे प्रदर्शित किया जाऐगा.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *