हमारी सरकार किसानों की आय दोगुना करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही : पीएम मोदी

नई दिल्ली (New Delhi) . बुधवार (Wednesday) को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के दो साल पूरे गए हैं. पीएम किसान निधि योजना के दो साल पूरे होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने बुधवार (Wednesday) को कई ट्वीट कर कहा कि हमारी सरकार किसानों की आय दोगुना (guna) करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार न्यनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने पर भी जो दे रही है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि पीएम किसान निधि से करोड़ों किसान भाई-बहनों के जीवन में आए बदलाव से हमें उनके लिए और अधिक काम करने की प्रेरणा मिली है.

  एम्स डायरेक्टर ने गिनाए देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के कारण

मोदी ने ट्वीट कर कहा कि पीएम किसान निधि की लाचिंग को आज दो साल पूरे हो रहे हैं. अन्नदाताओं के कल्याण को समर्पित योजना से करोड़ों किसान भाई-बहनों के जीवन में जो बदलाव आए हैं, उससे हमें उनके लिए और अधिक काम करने की प्रेरणा मिली है. उन्होंने लिखा कि अन्नदाताओं के जीवन को आसान बनाने और उनकी आय दोगुनी करने का जो संकल्प देश ने लिया है, उसमें पीएम किसान निधि की महत्वपूर्ण भूमिका है. आज हमारे किसान आत्मनिर्भर भारत अभियान के भी अभिन्न अंग बन रहे हैं.

  हम अर्थव्यवस्था को बंद नहीं करेंगे, हमारा उद्देश्य किसी को परेशान करने की बजाय सुरक्षा देना - अमरिंदर सिंह

पीएम मोदी ने अन्य ट्वीट में लिखा, इस दिन, 2 साल पहले पीएम-किसान योजना की शुरुआत की गई. इस हमारे मेहनती किसानों के लिए गरिमा के साथ-साथ समृद्धि सुनिश्चित करने के उद्देश्य के साथ शुरू किया गया था, जो हमारे देश को पोषित रखने के लिए दिन-रात काम करते हैं. उन्होंने कहा कि हमारे किसानों का तप और जुनून प्रेरणादायक है.
पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 7 सालों में केंद्र सरकार (Central Government)ने कृषि को बदलने के लिए कई पहल की हैं. बेहतर सिंचाई से लेकर अधिक प्रौद्योगिकी, अधिक ऋण और बाजार से लेकर उचित फसल बीमा तक, मृदा स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करने से बिचौलियों को समाप्त करने के लिए, प्रयास सभी शामिल हैं. उन्होंने आखिर ट्वीट करते हुए लिखा कि हमारी सरकार को एमएसपी में ऐतिहासिक वृद्धि की शुरुआत करने का सम्मान मिला.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *